दिल्ली से आगरा के बीच चली देश की सबसे तेज ट्रेन, ये है गतिमान की फैसिलिटी

आगरा/नई दिल्ली.देश की सबसे तेज रफ्तार वाली ट्रेन कही जाने वाली गतिमान एक्सप्रेस को मंगलवार को हरी झंडी दिखाई गई। हजरत निजामुद्दीन से आगरा कैंट रेलवे स्टेशन के बीच पहली सेमी हाईस्पीड ट्रेन को रेल मंत्री सुरेश प्रभु ने रवाना किया। दिल्ली से आगरा की दूरी ये ट्रेन 100 मिनट में तय करेगी। इस ट्रेन में प्लेन की तरह होस्टेस मौजूद हैं। 160 KM रफ्तार, ट्रेन में मिलेगा वाई-फाई…
– इसकी अधिकतम रफ्तार 160 किमी प्रति घंटा है। यह 100 मिनट में हजरत निजामुद्दीन से आगरा कैंट स्टेशन पहुंचेगी।
– गतिमान एक्सप्रेस में अल्ट्रा मॉडर्न 12 कोच और 5400 हॉर्स पावर का इलेक्ट्रिक इंजन लगा है। इस कोच में झटके कम महसूस होंगे।
– ट्रेन में वाई-फाई के चलते पैसेंजर अपने स्मार्टफोन पर गाने भी डाउनलोड कर सकेंगे।
कब-कि‍तने बजे चलेगी गतिमान?
– गतिमान एक्‍सप्रेस वीक में 6 दिन चलेगी। सिर्फ शुक्रवार को यह नहीं चलेगी।
– रेलवे के मुताबिक, शुक्रवार को ट्रेन नहीं चलाने की वजह यह है कि‍ इस दिन ताजमहल बंद रहता है।
– गतिमान एक्‍सप्रेस (12050) हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन से सुबह 8.10 बजे चलेगी। यह आगरा कैंट स्‍टेशन पर सुबह 9.50 बजे पहुंचेगी। इस दौरान कहीं भी यह ट्रेन नहीं रुकेगी।
– ट्रेन (12049 नंबर) शाम 5.50 बजे आगरा कैंट से रवाना होकर शाम 7.30 बजे हजरत निजामुद्दीन रेलवे स्‍टेशन पहुंचेगी।
कि‍तना होगा कि‍राया?
– हजरत निजामुद्दीन से आगरा के बीच गतिमान एक्सप्रेस का शुरुआती किराया 690 रुपए होगा।
– एग्जीक्यूविट क्लास में के लिए 1365 रुपए का टिकट है।
– रेलवे सूत्रों का कहना है कि गतिमान एक्सप्रेस का किराया शताब्दी एक्सप्रेस से 25% ज्यादा होगा। कैटरिंग सर्विस को और बेहतर बनाने के लिए किराया बढ़ाया गया है।
– भोपाल शताब्दी एक्सप्रेस का किराया 540 और 1040 रुपए है।
22 मार्च को हुआ था अंति‍म ट्रायल
– गतिमान एक्‍सप्रेस का फुल ड्रेस ट्रायल 22 मार्च, 2016 को हुआ था। इस दौरान नई दिल्‍ली स्‍टेशन से आगरा कैंट आने में ट्रेन को 110 मिनट लगे थे। दस मिनट का वक्‍त नई दिल्‍ली से हजरत निजामुद्दीन स्‍टेशन तक का था।
– अंतिम ट्रायल के दौरान आगरा से दिल्‍ली जाते समय ट्रेन से दो बच्‍चे टकरा गए थे। उनकी मौके पर ही मौत हो गई थी।
– मथुरा के पास भी ट्रेन का ओएचई पेंटो टूट गया था। इसे ठीक करने में 40 मिनट से ज्‍यादा का वक्‍त लग गया था।
– रेलवे ने इस रूट पर 25 ऐसे स्थानों की पहचान कराई थी, जहां ट्रेन की रफ्तार 110 किलोमीटर से ज्यादा नहीं हो सकती थी।
– आगरा रेल मंडल की पीआरओ भूपिंदर ढिल्‍लन का कहना है कि गतिमान एक्‍सप्रेस के 22 मार्च को हुए अंतिम ट्रायल के बाद दिल्‍ली में बैठक हुई। इसके बाद ट्रेन चलाने पर सहमति‍ बनी।