दिल्‍ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी की अभूतपूर्व जीत।

दिल्‍ली विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी को ऐतिहासिक बहुमत मिलने के पूरे आसार हैं। भाजपा को करारी हार का सामना करना पड़ा है, जबकि कांग्रेस का पूरी तरह सफाया हो गया है।

ताजा स्थिति के अनुसार 70 सदस्‍यों वाली विधानसभा में आम आदमी पार्टी बहुमत के आंकडे को पार कर चुकी है और उसने 46 सीटें जीत ली हैं तथा 21 पर आगे चल रही है। पिछले चुनाव में 31 सीटें जीतने वाली भाजपा ने दो सीटें जीत ली हैं और एक पर आगे है।

आम आदमी पार्टी नेता अरविन्‍द केजरीवाल जीत गये हैं, जबकि भाजपा की मुख्‍यमंत्री पद की उम्‍मीदवार किरण बेदी और कांग्रेस के मुख्‍यमंत्री पद के उम्‍मीदवार अजय माकन हार गये हैं।

आम आदमी पार्टी नेता अरविन्‍द केजरीवाल ने भाजपा की नुपुर शर्मा को 39 हजार से अधिक वोटों से हराया। आम आदमी पार्टी के नारायण दत्‍त शर्मा बदरपुर सीट से, कर्नल देविन्‍दर सहरावत बिजवासन सीट पर, ए पी त्रिपाठी मॉडल टाउन से, सत्‍येन्‍द्र जैन शकूरबस्‍ती से, अलका लांबा चांदनी चौक से और सौरभ भारद्वाज ग्रेटर कैलाश से विजयी हुए हैं।

भाजपा के विजेन्‍द्र गुप्‍ता रोहिणी सीट से विजयी हुए हैं। आम आदमी पार्टी के मनीष सिसोदिया और सोमनाथ भारती आगे चल रहे हैं।

आम आदमी पार्टी छोड़कर भाजपा में आए विनोद कुमार बिन्‍नी हार गये हैं। कांग्रेस की किरण वालिया और शोएब इकबाल पीछे चल रहे हैं।

श्रीमती किरण बेदी को भाजपा की गढ़ कृष्‍णानगर सीट पर आम आदमी पार्टी के ए.के. बग्‍गा ने दो हजार वोटो के अन्‍तर से हराया। इस सीट पर भाजपा के डॉ0 हर्षवर्द्धन जीतते रहे हैं।