दिसंबर तक निफ्टी छू सकता है 9500 का स्तर, निवेश के लिए लॉन्ग टर्म की करें प्लानिंग

अंतरराष्ट्रीय और घरेलू बाजार से मिल रहे बेहतर संकेतों का फायदा भारतीय शेयर बाजार को मिल रहा है। बीते एक महीने में शेयर बाजार 6 फीसदी चढ़ चुका है। निफ्टी ने 8600 के मनोवैज्ञानिक स्तर को भी पार कर दिया है। अब सभी के मन में कई सवाल उठ रहे हैं कि क्या बाजार में तेजी जारी रहेगी, निवेशकों को क्या रणनीति अपनानी चाहिए। साथ ही क्या यहां पर दिग्गज और मिडकैप शेयरों में खरीददारी करना सही होगा। इन सभी सवालों के जवाब खोजने के लिए मनी भास्कर ने बड़े विशेषज्ञों के साथ मिलकर पोल किया है। इस पोल में एक बात साफ हो गई है कि अगले 2-3 महीने तक निफ्टी सीमित दायरे में ही कारोबार करेगा। लेकिन दिसंबर तक निफ्टी 9500 का स्तर छू सकता है।
क्या था सर्वे
सर्वे में कुल 10 विशेषज्ञों से बात की गई।
सर्वे में कुल 2 प्रश्न थे।
क्या थे सवाल
पहला सवाल यह था कि बाजार में और कितनी कितनी तेजी आएगी?
दूसरा सवाल यह था निवेशकों को अब क्या करना चाहिए?

 

जारी रहेगा उतार-चढ़ावः एक्सपर्ट
सर्वे में शामिल ज्यादातर एक्सपर्ट मानते हैं कि कुछ समय तक बाजार में उतार-चढ़ाव का दौर बना रह सकता है, क्योंकि अमेरिका में जल्द ब्याज दरें बढ़ना लगभग तय माना जा रहा है। लेकिन मौजूदा स्तरों से बाजार में ज्यादा तेजी आने की उम्मीद नहीं है। ग्रीस और चीन की चिंताएं कम होने से बाजार ने राहत की सांस ली है और तेजी का दौर नजर आ रहा है। लेकिन आगे बाजार 8000-8700 के दायरे में ही कारोबार करने की उम्मीद है। हालांकि सरकार के तेज होते आर्थिक सुधारों का फायदा घरेलू बाजार को मिलेगा और कंपनियों के नतीजों में भी अगली तिमाही में सुधार होने की उम्मीद है। इसके चलते निफ्टी साल के अंत तक निफ्टी 9500 तक जा सकता है।
ऐसा क्यों कह रहे हैं जानकार
बाजार के एक्सपर्ट के मुताबिक मानसून और संसद के मानसून सत्र पर सभी की नजरें टिकी हैं। मानसून की शुरुआत तो शानदार हुई थी, लेकिन जुलाई में मानसूनी बारिश थमती नजर आ रही है। साथ ही संसद के मानसूनी सत्र में जीएसटी पर बात आगे बढ़ सकती है, लेकिन और किसी बिल को लेकर बाजार में संशय बरकरार है। इसके अलावा कमजोर नतीजों के दबाव से बाजार में गिरावट देखने को मिल सकती है।