दुनिया की सबसे सस्ती बाइक भारत में बनाएगी यामाहा

नई दिल्ली।। जापान की टू-वीलर कंपनी यामाहा 500 डॉलर (करीब 27 हजार रुपए) में मोटरसाइकल लॉन्च करेगी। कंपनी ने इंडिया में कम कीमत वाली मोटरसाइकल बनाने के प्लान का खुलासा किया है। कंपनी ने यह बात अपने पांचवें ग्लोबल रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट सेंटर की स्थापना के मौके पर कही। कंपनी ने दावा किया है कि यह बाइक दुनिया की सबसे सस्ती मोटरसाइकल होगी। उसने कहा है कि भारत लो-कॉस्ट बाइक डिवेलपमेंट के लिए ग्लोबल हब बन सकता है। इस बाइक को अफ्रीका और लैटिन अमेरिकी देशों में एक्सपोर्ट किया जा सकता है।

कंपनी की नई इकाई यामाहा मोटर रिसर्च ऐंड डिवेलपमेंट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड (वाईएमआरआई) पहले से ही इस प्रॉडक्ट को डिवेलप करने पर काम कर रही है। इस बाइक को भारत में सबसे पहले लॉन्च किया जाएगा। वाईएमआरआई को इस साल फरवरी में उत्तर प्रदेश के सूरजपुर में बनाया गया। भारतीय मार्केट में अपनी पोजिशन बेहतर करने के लिए कंपनी 2016 तक स्कूटर का नया मॉडल भी लॉन्च करेगी। कंपनी अपनी चेन्नै फसिलिटी के लिए 2015 में दूसरा आरऐंडडी सेंटर खोलेगी।

वाईएमआरआई के मैनेजिंग डायरेक्टर तोशिकाजू कोबायाशी ने बताया, ‘हम भारत और एक्सपोर्ट मार्केट के लिए करीब 500 डॉलर में सबसे सस्ती बाइक डिवेलप करना चाहते हैं। हम सबसे पहले भारत में बाइक लॉन्च करेंगे। इस बाइक को अफ्रीका और लैटिन अमेरिका जैसे दूसरे मार्केट में भी बेच सकते हैं। हम भविष्य में दूसरे देशों को यहां से एक्सपोर्ट करेंगे। प्लान के तहत हमारा पहला कदम दुनिया की सबसे सस्ती बाइक बनाना है। इसे भारत फोकस्ड मॉडल के तौर पर पेश करना है।’

कोबायाशी ने कहा कि हम फ्यूचर में ग्लोबल मॉडल लॉन्च करेंगे। यामाहा का यह कदम भारतीय मार्केट सहित दुनिया भर में कम्यूटर सेगमेंट में अपनी उपस्थिति बढ़ाना है। इंडिया यामाहा मोटर (आईवाईएम) के सीईओ और एमडी हिरोयूकी सुजुकी ने बताया, ‘हम भारत में स्पोर्टी, स्टाइलिश और परफॉर्मेंस बाइक पर फोकस कर रहे हें। अब हम कम्यूटर सेगमेंट में अपनी उपस्थिति बढ़ाना चाहते हैं। भारत में प्रॉडक्ट डिवेलप करने से हमें कॉस्ट अडवांटेज मिलेगा। इससे हम ज्यादा से ज्यादा प्रतिस्पर्धी हो सकेंगे।’

उन्होंने कहा कि कंपनी इस साल 7.1 लाख यूनिट मोटरसाइकल और स्कूटर्स बेचने का लक्ष्य रख रही है। इसमें 2.1 लाख यूनिट का एक्सपोर्ट शामिल है। कंपनी 2012 में 4.9 लाख यूनिट बाइक और स्कूटर बेचने में सफल रही थी। उन्होंने बताया, ‘हमने 2018 तक अपने सेल्स (एक्सपोर्ट सहित) को बढ़ाकर 28 लाख यूनिट पहुंचाने का लक्ष्य रखा है। हम 2015 तक 10 लाख यूनिट सालाना करना चाहते हैं।’

सुजुकी ने कहा कि 2020 तक भारतीय टू-वीलर मार्केट 2.5 करोड़ यूनिट तक पहुंच सकता है। कंपनी 2016 तक 10 फीसदी मार्केट शेयर पर नजरें टिकाए हुए है। सुजुकी ने बताया, ‘हम 2020 तक टू-वीलर मार्केट में स्कूटर की आधी हिस्सेदारी होने की उम्मीद कर रहे हैं। हमारा लक्ष्य हर साल एक स्कूटर मॉडल लॉन्च करने का है। इससे हमें 2016 तक 10 फीसदी तक मार्केट शेयर पहुंचाने में मदद मिलेगी।’ इस समय कंपनी के पास एक ही स्कूटर मॉडल रे है। यह प्रॉडक्ट महिला कस्टमर्स को फोकस कर लाया गया है।