दुनिया के बड़े शहरों में आतंकी हमले का खतरा, ब्रसेल्स में सेलिब्रेशन कैंसल

वॉशिंगटन/ब्रसेल्स. अमेरिका से लेकर यूरोप तक नए साल के मौके पर आतंकी हमले का खतरा मंडरा रहा है। अमेरिका में हजारों पुलिसवालों को सिक्युरिटी के लिए तैनात किया गया है।
न्यूयॉर्क में 6 हजार पुलिसवाले तैनात
– अमेरिका के नेशनल टेरेरिज्म एडवाइजरी बुलेटिन में कहा गया है, “किसी संगठन द्वारा हमला करने के बारे में पक्की सूचना नहीं है लेकिन कोई भी आदमी अकेले हमला कर सकता। टाइम्स स्क्वेयर पर हजारों सिक्युरिटी पर्सनल्स तैनात किए गए हैं। हालांकि आम लोगों को इनमें से कुछ ही नजर आएंगे।”
दो हमलों के बाद डर
– पेरिस और सैन बर्नार्डिनो पर आतंकी हमलों के बाद सिक्युरिटी को लेकर दुनियाभर में चिंता है। फ्लोरिडा के फुटबॉल स्टेडियम पर भी नजर रखी जा रही है। यहां न्यू ईयर पर प्रोग्राम होते हैं।
– न्यूयॉर्क के पुलिस कमिश्नर विलियम ब्रेटन ने कहा- डरने की जरूरत नहीं है। हमारे यहां दुनिया की सबसे बेहतरीन न्यू ईयर पार्टी होगी।
हर जगह पैनी नजर
– अमेरिका और यूरोप के शहरों में छतों पर स्नाइपर्स तैनात किए गए हैं। आसमान के अलावा समुद्री रास्तों पर भी गश्त बढ़ा दी गई है।
– न्यूयॉर्क के सिटी मेयर विल डी ब्लासियो ने लोगों को भरोसा दिलाते हुए कहा- सिक्युरिटी के लिहाज से न्यूयॉर्क में कोई खतरा नहीं है। हम लोगों को यकीन दिलाते हैं कि न्यूयॉर्क दुनिया का सबसे सेफ शहर है।
यूरोप में भी खतरा
– अमेरिका के अलावा यूरोपीय देशों में भी आतंकी हमलों को खतरा है। बेल्जियम के ब्रसेल्स शहर में आतंकी हमले का खतरा देखते हुए न्यू ईयर सेलिब्रेशन पर ही रोक लगा दी गई है।
– न्यू ईयर पर ब्रसेल्स में होने वाले सालाना आतिशबाजी कार्यक्रम पर सरकार ने रोक लगा दी है।
– पूरे ब्रिटेन और खासकर लंदन में सिक्युरिटी अरेंजमेंट पुख्ता किए गए हैं। लंदन में 3 हजार पुलिसवालों की तैनाती की गई है।
तुर्की में दो लोग गिरफ्तार
तुर्की में आतंकी हमले की साजिश रचने के शक में दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। दोनों आईएस से जुड़े बताए गए हैं। बताया जाता है कि दोनों आतंकी न्यू ईयर पर राजधानी अंकारा को टारगेट बनाना चाहते थे।