‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर BJP के हैंडल से ट्वीट किए जाने पर कांग्रेस बोली- यह प्रोपगेंडा है

राजनीतिक फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किये जाने को लेकर विवाद शुरू हो गया है. इस बीच कांग्रेस ने पार्टी प्रवक्ताओं से कहा है कि वह फिल्म पर बयान न दें. पार्टी के इस फरमान से पहले कांग्रेस ने कहा कि बीजेपी प्रोपगेंडा में मास्टर है. कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह ने पूछा कि क्या इससे पहले बीजेपी ने किसी फिल्म को प्रमोट किया है?

वहीं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पीएल पुनिया ने कहा कि यह बीजेपी का खेल है. पांच साल खत्म होने वाला है और उनके पास बताने के लिए कुछ नहीं है. इसलिए ध्यान भटकाने के लिए पार्टी यह हथकंडा अपना रही है.

यही नहीं यूथ कांग्रेस के महाराष्ट्र के प्रदेश अध्यक्ष सत्यजीत टाम्बे ने फिल्म के प्रोड्यूसर और डायरेक्टर को पत्र लिखकर फिल्म को लेकर अपनी आपत्त‍ि दर्ज कराई है और इसे रिलीज से पहले दिखाने को कहा है. फिल्म में मनमोहन सिंह का किरदार अनुपम खेर निभा रहे हैं. जब फिल्म को लेकर आज मनमोहन सिंह से सवाल पूछा गया तो उन्होंने कोई भी प्रतिक्रिया देने से इनकार किया.

ट्रेलर में कई डायलॉग ऐसे हैं. जिससे कांग्रेस को आपत्ति है, जो पार्टी के विरोध में दिखता है. फिल्म के डायलॉग्स:-
– मुझे तो डॉक्टर साहब भीष्म पितामह जैसे लगते हैं जिनमें कोई बुराई नहीं है पर फैमिली ड्रामा के विक्टिम लगते हैं.
– महाभारत में दो फैमिली थी इंडिया में तो एक ही है.
– सौ करोड़ की आबादी वाले देश को ये गिने चुने लोग चलाते हैं. ये देश की कहानी लिखते हैं.
– मैं पीएम के लिए काम करता हूं पार्टी के लिए नहीं.
– न्यूक्लियर डील की लड़ाई तो हमारे लिए पानीपत की लड़ाई से भी मुश्किल थी.
– दिल्ली दरबार में एक ही तो चर्चा थी, कि डॉक्टर साहब को पार्टी से हटाएंगे और कब पार्टी राहुल जी का अभिषेक करेंगी.
– आप कश्मीर का हल निकालेंगे तो आने वाले प्राइम मिनिस्टर क्या करेंगे.

बीजेपी ने ट्रेलर ट्वीट किया-
बीजेपी ने ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर ट्वीट करते हुए कल लिखा, ”इस ट्रेलर की कहानी बताती है कि कैसे एक परिवार ने दस सालों तक देश को बंधक बनाकर रखा. क्या डॉ मनमोहन सिंह सिर्फ इसलिए तब तक पीएम की कुर्सी पर बैठे थे, जब तक उनका राजनीतिक उतराधिकारी तैयार न हो जाए? देखें इनसाइडर्स अकाउंट पर आधारित द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर का ट्रेलर, जो 11 जनवरी को रिलीज हो रही है.”

फिल्म मनमोहन सिंह की भूमिका में अनुपम खेर हैं. मंझे हुए कलाकार अनुपम खेर की पत्नी किरण खेर चंडीगढ़ से बीजेपी सांसद हैं. अनुपम खेर भी कई मुद्दों पर मोदी सरकार के पक्ष में बयान दे चुके हैं. फिल्म मनमोहन सिंह के पूर्व मीडिया सलाहकार संजय बारू की किताब पर आधारित है.

अभिनेत्री सुजेन बर्नर्ट यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी की भूमिका में हैं. अक्षय खन्ना बारू के किरदार में हैं और दिव्या सेठ शाह फिल्म में मनमोहन सिंह की पत्नी गुरशरण कौर की भूमिका में नजर आएंगी. फिल्म का निर्देशन विजय रत्नाकर गुट्टे ने किया है. हंसल मेहता इसके क्रिएटिव प्रोड्यूसर हैं.

अनुपम खेर ने राहुल गांधी को दी हिदायत

ट्रेलर लॉन्‍च होने के साथ ही पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के राजनीतिक जीवन पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ (The Accidental Prime Minister) पर राजनीति शुरू हो गई है। भारतीय जनता पार्टी ने अपने ट्विटर हैंडल पर फिल्‍म का ट्रेलर शेयर कर कांग्रेस पर हमला किया है। उधर कांग्रेस भी अब मैदान में उतर आई है। कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता पीएल पूनिया ने इसे ध्‍यान बांटने की तरकीब बताया है।

‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ की रिलीज पर चल रहे विवाद पर फिल्‍ममेकर मधुर भंडारकर ने कहा कि वह पहले भी ऐसी परिस्थिति देख चुके हैं। उन्‍होंने ट्वीट कर कहा, ‘यह मेरे लिए देजा वु मोमेंट (पहले भी देखा जा चुका) हैं। पिछले साल मेरी आपातकाल पर आधारित फिल्‍म ‘इंदु सरकार’ का भी पूरे देश में विरोध हुआ था। ‘द एक्सिडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ एक पुस्‍तक पर आधारित है। जब पुस्‍तक पर विवाद नहीं हुआ, तो फिल्‍म पर क्‍यों हो रहा है।’

महाराष्‍ट्र में यूथ कांग्रेस फिल्‍म का विरोध कर रहा है। ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ में मनमोहन सिंह का किरदार निभा रहे अनुपम खेर का कहना है कि फिल्‍म का विरोध करने का कोई मतलब नहीं है। उन्‍होंने कहा, ‘देखिए, ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का जितना विरोध होगा, उतनी ही फिल्‍म को पब्लिसिटी मिलेगी। फिल्‍म की कहानी जिस किताब पर आधारित है, वो 2014 में आई थी। तब कोई विरोध क्‍यों नहीं किया गया।’ उन्‍होंने कहा, ‘हाल ही में राहुल गांधी जी का ट्वीट पढ़ा था, जिसमें अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर उन्‍होंने बोला था। इसलिए मुझे लगता है कि राहुल गांधी को अब फिल्‍म का विरोध कर रहे, लोगों को डांटना चाहिए क्‍योंकि वे गलत कर रहे हैं।’

सूचना एवं प्रसारण राज्यमंत्री राज्यवर्द्धन सिंह राठौर ने फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर भाजपा के हैंडल से पोस्ट किए जाने के सवाल पर कहा, “क्या हम किसी फिल्म को बधाई शुभकामनाएं नहीं दे सकते अपनी इच्‍छा जाहिर नहीं कर सकते…? कांग्रेस स्वतंत्रता की पक्षकार रही है, तो अब वो उसी स्वतंत्रता पर सवाल क्यों उठा रही है…?’

कांग्रेस सांसद पीएल पूनिया ने फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर को भाजपा के ट्विटर हैंडल से ट्वीट किए जाने के सवाल पर कहा, ‘यह भारतीय जनता पार्टी का खेल है। भाजपा जानती हैं कि उनके कार्यकाल के पांच साल खत्म होने को हैं और जनता को दिखाने के लिए उनके पास कुछ नहीं है, इसलिए वे ध्यान बंटाने के लिए ऐसी तरकीब अपना रहे हैं। लेकिन कुछ हल होने वाला नहीं है।’

भाजपा ने ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर ट्वीट कर लिखा, ‘इस फिल्‍म की कहानी बताती है कि कैसे एक परिवार ने दस सालों तक देश को बंधक बनाकर रखा था। क्या डॉक्‍टर मनमोहन सिंह सिर्फ इसलिए तब तक प्रधानमंत्री की कुर्सी पर बैठे थे, जब तक उनका राजनीतिक उतराधिकारी तैयार न हो जाए? देखें इनसाइडर्स अकाउंट पर आधारित द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर का ट्रेलर, जो 11 जनवरी को रिलीज हो रही है।’

इधर, कांग्रेस स्थापना दिवस के मौके पर पार्टी मुख्यालय पर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पूर्व प्रधानमंत्री डॉ. मनमोहन सिंह ने केक काटा। यहां जब मनमोहन सिंह से ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ के ट्रेलर पर टिप्‍पणी मांगी गई, तब उन्‍होंने कुछ भी कहने से इनकार कर दिया। एक बार फिर मौन रहकर उन्‍होंने बहुत कुछ कह दिया। 2019 लोकसभा चुनाव से पहले ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ रिलीज हो रही है। ऐसे में फिल्‍म की टाइमिंग को लेकर भी सवाल उठ रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *