धोनी ने जब लिया था रिटायरमेंट, रातभर उनके कमरे में बैठे रहे रैना-विराट-अश्विन

नई दिल्ली. सुरेश रैना ने करीब एक साल बाद धोनी के रियाटरमेंट पर बुधवार को खुलासा किया है। एक इंटरव्यू में रैना के मुताबिक, सभी के लिए ये बहुत मुश्किल समय था। धोनी ने ये फैसला अचानक लिया था। इसके बारे में किसी को कुछ नहीं पता था।

– वे रिटायरमेंट की एक रात पहले मेरे पास आए और बोले, मेरे पास एक एक्स्ट्रा लार्ज (XXL) जर्सी है। इसे रख लो।
– मुझे तभी अंदाजा हो गया था कि वो जरूर कुछ करने वाले हैं। मैंने उनसे जर्सी साइन करने के लिए कहा।
– अगले दिन सुबह सभी ब्रेकफास्ट कर रहे थे। धोनी भी थे, लेकिन बिल्कुल शांत। वो किसी से बात नहीं कर रहे थे।
– मुझे भरोसा हो गया कि आज शाम को जरूर कुछ होने वाला है।
– जैसे ही टेस्ट मैच खत्म हुआ, धोनी ने सभी प्लेयर्स को बुलाकर कहा, वो कुछ बताना चाहते हैं। मैं समझ गया कि वो रिटायर हो रहे हैं।
– ये किसी भी खिलाड़ी के लिए बहुत मुश्किल समय होता है।
आज के बाद मैं ये सफेद जर्सी कभी नहीं पहनूंगा
– रैना के मुताबिक, धोनी उस रात अपनी सफेद जर्सी में ही सोए। और फिर उसे कभी नहीं पहना।
– धोनी के रिटायरमेंट के एलान के बाद मैं, इशांत, अश्विन और विराट उनके रूम में ही बैठे थे। तब धोनी ने कहा, ‘आज के बाद मैं ये सफेद जर्सी कभी नहीं पहनूंगा।’
– बता दें कि दिसंबर 2014 में ऑस्ट्रेलिया में बॉक्सिंग डे टेस्ट के आखिरी दिन मेलबर्न में धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से रिटायरमेंट का एलान किया था। ये उनके करियर का 90वां टेस्ट था।
आई जिम्मेदारी, रो पड़े थे विराट
– विराट के मुताबिक, ऑस्ट्रेलिया टूर पर धोनी के अचानक टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद मुझे कप्तानी की जिम्मेदारी दी गई। उस वक्त मैं कुछ समझ नहीं पा रहा था कि अचानक क्या हो रहा है।
– मैं अपने कमरे में गया। तब ऑस्ट्रेलिया में अनुष्का भी मौजूद थीं। मैंने उन्हें भी ये बात बताई। वो भी हैरान थीं कि ये सब अचानक कैसे हो गया।
– थोड़ी देर बाद मैं शांत हुआ और सोचा कि मुझे टेस्ट का कप्तान बनाया गया है। और ये सोचते ही मैं अनुष्का के सामने ही रो पड़ा था।
– विराट ने कहा कि उन्होंने भारत के लिए क्रिकेट खेलने का सपना देखा था। कभी ये नहीं सोचा था कि वो भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान बन पाएंगे।