नई दिल्ली.बैंकों के नौ हजार करोड़ के कर्जदार विजय माल्या ने अपनी सफाई में शुक्रवार सुबह कुछ ट्वीट किए। उन्होंने लिखा, ”मैं इंटरनेशनल बिजनेसमैन हूं, भगोड़ा नहीं। मेरा मीडिया ट्रायल न करें।” इस बीच, ये बात सामने आई है कि माल्या जब दिल्ली एयरपोर्ट से लंदन के लिए 2 मार्च को निकले तो उनके साथ एक महिला भी थी। वे एक घंटे तक एयरपोर्ट पर थे। लेकिन किसी ने उन्हें रोका नहीं। कितना कमजोर था लुक आउट नोटिस, माल्या ने अपनी सफाई में और क्या कहा… – माल्या ने आज सुबह 5 ट्वीट किए। इसमें कहा- ‘‘मैं इंटरनेशनल बिजनेसमैन हूं। मैं भारत से बाहर लगातार ट्रेवल करता हूं।’’ – ‘‘मैं भारत से भागा नहीं हूं। भगोड़ा नहीं हूं। ये सब बेतुकी बातें हैं।’’ – ‘‘एक भारतीय सांसद होने के नाते मैं कानून का पूरा सम्मान करता हूं। हमारा ज्यूडिशियल सिस्टम काफी मजबूत और सम्मनित है। मीडिया मेरा ट्रायल न करे।’’ – ‘‘मीडिया बॉसेस ये ना भूलें कि मैंने कई साल उनकी मदद की है। ये सब डॉक्यूमेंटेड है। अब वे टीआरपी हासिल करने के लिए झूठ बोल रहे हैं।’’ – ‘‘न्यूज रिपोर्ट्स में कहा गया है कि मुझे मेरी असेट्स डिक्लेयर करनी चाहिए। क्या इसके ये मायने हैं कि बैंकों को मेरी असेट्स के बारे में नहीं पता या किसी ने मेरा संसद में दिया गया हलफनामा नहीं देखा?’’ – ”एक बार मीडिया आपके पीछे पड़ जाए तो सच और फैक्ट्स हवा में उड़ जाते हैं।” माल्या के खिलाफ बेहद कमजोर था सीबीआई का नोटिस – विजय माल्या किंगफिशर एयरलाइंस चलाते थे। इस कंपनी का घाटा साल-दर-साल बढ़ता रहा। वे बैंकों से कर्ज लेते रहे। – उन पर बकाया कर्ज 9000 करोड़ रुपए तक हो गया। उनके ट्रेडमार्क सीज किए गए। लेकिन पूरी रिकवरी नहीं हो पाई। – इसी महीने बैंकों ने पहले कर्ज रिकवरी ट्रिब्यूनल और फिर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया। – लेकिन बुधवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट काे सरकार के ही वकीलों ने बताया कि माल्या 2 मार्च को देश छोड़कर जा चुके हैं। – माल्या के खिलाफ सीबीआई जांच कर रही है। अब लंदन में इंडियन एबेंसी के जरिए उनके खिलाफ कार्रवाई की कोशिशें होंगी। – अब यह खुलासा हुआ है कि सीबीआई ने माल्या के खिलाफ अक्टूबर 2015 से लुक आउट नोटिस जारी कर रखा था। लेकिन यह इतना कमजोर था कि इसमें माल्या को हिरासत में लेने की कोई एडवाइजरी नहीं थी।

नई दिल्ली.बैंकों के नौ हजार करोड़ के कर्जदार विजय माल्या ने अपनी सफाई में शुक्रवार सुबह कुछ ट्वीट किए। उन्होंने लिखा, ”मैं इंटरनेशनल बिजनेसमैन हूं, भगोड़ा नहीं। मेरा मीडिया ट्रायल न करें।” इस बीच, ये बात सामने आई है कि माल्या जब दिल्ली एयरपोर्ट से लंदन के लिए 2 मार्च को निकले तो उनके साथ एक महिला भी थी। वे एक घंटे तक एयरपोर्ट पर थे। लेकिन किसी ने उन्हें रोका नहीं। कितना कमजोर था लुक आउट नोटिस, माल्या ने अपनी सफाई में और क्या कहा…
– माल्या ने आज सुबह 5 ट्वीट किए। इसमें कहा- ‘‘मैं इंटरनेशनल बिजनेसमैन हूं। मैं भारत से बाहर लगातार ट्रेवल करता हूं।’’
– ‘‘मैं भारत से भागा नहीं हूं। भगोड़ा नहीं हूं। ये सब बेतुकी बातें हैं।’’
– ‘‘एक भारतीय सांसद होने के नाते मैं कानून का पूरा सम्मान करता हूं। हमारा ज्यूडिशियल सिस्टम काफी मजबूत और सम्मनित है। मीडिया मेरा ट्रायल न करे।’’
– ‘‘मीडिया बॉसेस ये ना भूलें कि मैंने कई साल उनकी मदद की है। ये सब डॉक्यूमेंटेड है। अब वे टीआरपी हासिल करने के लिए झूठ बोल रहे हैं।’’
– ‘‘न्यूज रिपोर्ट्स में कहा गया है कि मुझे मेरी असेट्स डिक्लेयर करनी चाहिए। क्या इसके ये मायने हैं कि बैंकों को मेरी असेट्स के बारे में नहीं पता या किसी ने मेरा संसद में दिया गया हलफनामा नहीं देखा?’’
– ”एक बार मीडिया आपके पीछे पड़ जाए तो सच और फैक्ट्स हवा में उड़ जाते हैं।”
माल्या के खिलाफ बेहद कमजोर था सीबीआई का नोटिस
– विजय माल्या किंगफिशर एयरलाइंस चलाते थे। इस कंपनी का घाटा साल-दर-साल बढ़ता रहा। वे बैंकों से कर्ज लेते रहे।
– उन पर बकाया कर्ज 9000 करोड़ रुपए तक हो गया। उनके ट्रेडमार्क सीज किए गए। लेकिन पूरी रिकवरी नहीं हो पाई।
– इसी महीने बैंकों ने पहले कर्ज रिकवरी ट्रिब्यूनल और फिर सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया।
– लेकिन बुधवार को सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट काे सरकार के ही वकीलों ने बताया कि माल्या 2 मार्च को देश छोड़कर जा चुके हैं।
– माल्या के खिलाफ सीबीआई जांच कर रही है। अब लंदन में इंडियन एबेंसी के जरिए उनके खिलाफ कार्रवाई की कोशिशें होंगी।
– अब यह खुलासा हुआ है कि सीबीआई ने माल्या के खिलाफ अक्टूबर 2015 से लुक आउट नोटिस जारी कर रखा था। लेकिन यह इतना कमजोर था कि इसमें माल्या को हिरासत में लेने की कोई एडवाइजरी नहीं थी।