नेपाल में 25 अप्रैल को आये विनाशकारी भूकंप में मृतकों की संख्या सात हजार तीन सौ छियासठ हो गई है।

नेपाल में 25 अप्रैल को आये विनाशकारी भूकंप में मृतकों की संख्या सात हजार तीन सौ छियासठ हो गई है। भूकंप में चौदह हजार तीन सौ इकहत्तर लोग घायल हुए हैं। तलाश और बचाव कार्य का पहला चरण पूरा होने के बाद विभिन्न देशों के राहतकर्मी नेपाल से जाने लगे हैं। पोलैंड, नीदरलैंड, तुर्की, जर्मनी, फ्रांस और ब्रिटेन के राहत दल नेपाल से पहले ही जा चुके हैं। सबसे बड़े राहत कर्मियों का दल भारत के एन डी आर एफ की तीन टीमें आज काठमांडू से अपने मुख्यालय पटना रवाना हो रही हैं। एन डी आर एफ ने काठमांडू घाटी के भक्तपुर-ललितपुरा काठमांडू जिलों में अपना खोज एवं बचाव का कार्य पूरा कर लिया है। नेपाली अधिकारियों ने कहा है कि मलबा हटाने में माहिर राहतकर्मी अपने अभियान में जुटे रहेंगे। भूकंप प्रभावित जिलों में बंद पड़ी शिक्षण संस्थाएं 15 मई से शुरु हो रही हैं। प्रभावित जिलों में पांच सौ पिचहत्तर स्कूल पूरी तरह नष्ट हो गए हैं जबकि एक हजार स्कूल भवनों को क्षति पहुंची है। भक्तपुर-ललितपुरा काठमांडू के अधिकांश स्कूल भवनों का अस्थाई राहत शिविर के उपयोग लाया जा रहा है। उत्तर प्रदेश सरकार ने 450 से अधिक ट्रकों में राहत सामग्री उपलब्ध कराई है। नेपाल रेडक्रॉस सोसायटी ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के प्रति आभार जताया है।