नेवी में वाइफ स्वैपिंग: अफसर की पत्नी ने SC में लगाई अर्जी, अब जांच करेगी CBI

नई दिल्ली.नेवी में पत्नियों की अदला-बदली (वाइफ स्वैपिंग) और यौन शोषण केस की जांच सीबीआई को सौंपी गई है। गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट ने पीड़ित महिला की अर्जी पर सुनवाई के दौरान ये ऑर्डर दिया। नेवी अफसर की पत्नी ने कहा है कि उसे केरल पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। बता दें कि कोच्चि की साउथ कमांड में वाइफ स्वैपिंग की बात सामने आई थी, जिसकी जांच चल रही है।
क्या है पूरा मामला…
– साल 2012 में कोच्चि के साउथ कमांड में एक लेफ्टिनेंट की पत्नी ने नेवी में वाइफ स्वैपिंग का आरोप लगा था।
– कोच्चि के पुलिस स्टेशन में उसने नेवी के 10 अफसरों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी।
– आरोप था कि उसके पति ने प्रमोशन के लिए उसे आला अफसरों को परोसा, जहां उसका यौन शोषण किया गया।
– पीड़ित महिला ने वाइफ स्वैपिंग के भी आरोप लगाए थे। जिसके बाद नेवी ने भी जांच रिपोर्ट डिफेंस मिनिस्ट्री को भेजी थी।
– हालांकि इस रिपोर्ट में लेफ्टिनेंट की पत्नी के यौन शोषण और बाकी सभी आरोपों को गलत बताया गया था।
पूर्व रक्षा मंत्री ने दिया था कार्रवाई का भरोसा
– नेवी में वाइफ स्वैपिंग के गंभीर आरोपों पर पूर्व रक्षा मंत्री ए के एंटनी ने कहा था कि जब भी हमें ऐसी कोई शिकायत मिलती है। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाती है।
– एंटनी के ऑर्डर पर साल 2013 में दो नेवी अफसरों को बर्खास्त किया गया था। एक पर सीनियर अफसर की पत्नी से अवैध संबंध रखने और आईएनएस विराट पर तैनात दूसरे अफसर को महिलाओं को अश्लील मैसेज करने का दोषी पाए जाने पर बर्खास्त किया था।