नोटबंदी मोदी का एक बड़ा दांव है, चीन में ऐसा किया तो पता नहीं क्या होगा

बीजिंग. चीन के ऑफिशियल मीडिया ने मोदी के नोटबंदी के फैसले को साहसिक कदम बताया है। ग्लोबल टाइम्स ने अपने एडिटोरियल में लिखा है कि मोदी का नोटबंदी का फैसला एक बड़ा दांव लगाया है और ये मिसाल कायम करेगा। बता दें इससे पहले चीन के मीडिया ने भारत में नोटबंदी को बड़ा मजाक और महंगा राजनीतिक कदम करार दिया था। कल्पना नहीं कर सकते कि 100 युआन बंद करने पर क्या होगा…
– ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, “भारत में नोटबंदी का फैसला फेल हो या फिर कामयाब, लेकिन ये मिसाल जरूर कायम करेगा।”
– “ये बेहद हिम्मत भरा फैसला है और चीन भी करप्शन इस फैसले के असर पर नजर रखेगा और इससे सबक लेगा।”
– “हम इस बात की कल्पना भी नहीं कर सकते हैं अगर चीन में 50 और 100 युआन के नोट बंद कर दिए जाएं।”
– “फैसले को छिपाकर रखने के चलते इसे लागू करने में सरकार को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ा।”
सिद्धांतों के खिलाफ थी प्रक्रिया
– ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, “मोदी दुविधा में थे क्योंकि फैसला ब्लैकमनी के खिलाफ था, लेकिन इसकी प्रक्रिया शासन के सिद्धांतों के खिलाफ थी।”
– “पॉलिसी में किसी तरह के सुधार या बदलाव से पहले जनता का समर्थन हासिल करना जरूरी था।”
– “नोटबंदी का फैसला करप्शन को तोड़ देगा, इकोनॉमी पर भी असर पड़ेगा। लेकिन जाहिर है कि इन समस्याओं को जन्म देने वाले सोशल और पॉलिटिकल मसलों को कैसे सुलझा पाएगा।”
– एडिटोरियल में ये साफ लिखा गया कि जब तक करप्शन की जड़ें जिंदा रहेंगी, तब तक ये पनपता रहेगा।
जनता की सहनशक्ति की परीक्षा
– ग्लोबल टाइम्स ने लिखा, “मोदी गवर्नमेंट चाहती है कि एक ही बार में करप्शन खत्म हो जाए और लंबे समय से जिस सुधार की जरूरत थी, उसे लागू किया जाए।”
– “नोटबंदी मोदी के लिए एक बाजी की तरह है। इसमें फैसले को लागू करने की सरकार की क्षमता और जनता की सहनशक्ति दोनों दांव पर लगे हैं।”
– “मोदी को उम्मीद है कि इस फैसले के नतीजे निगेटिव सोशल इम्पैक्ट को खत्म कर देंगे और उनके मनोबल को बढ़ाएंगे।”
– ग्लोबल टाइम्स के मुताबिक, “सुधार हमेशा ही मुश्किल होते हैं और इसके लिए साहस के अलावा दूसरी चीजों की भी जरूरत होती है।”
– “नोटबंदी एक अच्छा कदम है, लेकिन ये सरकार के लागू करने के तरीके और जनता के सहयोग पर निर्भर करता है।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *