पंडित नेहरू भी करते थे योग, सामने आई शीर्षासन करते हुए फोटो

नई दिल्ली. 21 जून को इंटरनेशनल योगा डे के पहले पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरू की योग करते हुए फोटो सामने आई है। इस फोटो में नेहरू शीर्षासन की मुद्रा में हैं। नेहरू ने इस संबंध में एक किताब में लिखा है कि उन्हें शीर्षासन से फायदा होता है।

योग का सबसे फायदेमंद आसन है शीर्षासन-पंडित नेहरू

योग से होने वाले फायदों को लेकर पंडित नेहरू ने लिखा था, ”शीर्षासन के दौरान सिर के बल खड़ा होना होता है।” एक अंग्रेजी वेबसाइट के मुताबिक नेहरू ने लिखा था, ” इससे नीचे अपनी हथेलियों से सहारा देने के वजह से हाथों और उंगलियों के इंटरलॉक खुलते हैं। मेरा मानना है कि शारीरिक व्यायाम का यह सबसे अच्छा आसन है। मैं इसे पसंद करता हूं। मुझे इससे बहुत फायदा मिला है। योग करने से मेरी मानसिक शक्ति अच्छी होती है और साथ ही दिमाग शांत रहता है, जिससे परेशानी के दौर में भी सहनशीलता की शक्ति विकसित होती है।”

रामदेव के दावे पर लगी मुहर

योग करते हुए नेहरू की फोटो के सामने आने से बाबा रामदेव के दावे पर मुहर लग गई है। सोमवार को चंडीगढ़ में रामदेव ने कहा था कि पंडित नेहरू और इंदिरा गांधी भी योग करती थीं। रामदेव ने यह भी कहा था कि सोनिया गांधी भी योग करती रही हैं। लेकिन कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी योग से दूर हैं, इसलिए वह सत्ता से दूर हैं। रामदेव राहुल गांधी को योग सिखाने के लिए भी तैयार थे। रामदेव ने कांग्रेस के नेताओं को नसीहत दी है कि वे योग के कार्यक्रम का राजनीतिक तौर पर तो विरोध कर सकते हैं, लेकिन योग का विरोध न करें।

उत्तराखंड नहीं होगा शामिल

21 जून को जहां इंटरनेशनल योगा डे यूएन सहित दुनियाभर के तमाम देशों में मनाया जाएगा, वहीं कुछ मुस्लिम संगठन इसके विरोध में हैं। कांग्रेस शासित राज्य भी योग दिवस के विरोध में उतर आए हैं। बुधवार को उत्तराखंड के सीएम हरीश रावत ने बयान जारी कर कहा कि उत्तराखंड योग दिवस के कार्यक्रम में शामिल नहीं होगा। इसी तरह झारखंड में भी कांग्रेस ने योग दिवस का विरोध करने का फैसला लिया है।

राजपथ पर योग के कार्यक्रम को लेकर असमंजस में कांग्रेस

इंटरनेशनल योग डे के मौके पर 21 जून को सरकार की तरफ से राजपथ पर हजारों लोगों के साथ योग का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में शामिल होने के लिए सरकार की ओर से कांग्रेस नेताओं को भी आमंत्रण भेजा गया है। हालांकि, अभी तक कांग्रेस के किसी बड़े नेता के ऐसे कार्यक्रमों में शामिल होने की पुष्टि नहीं की गई है।