पठानकोट अटैक: PAK ने कहा- भारत को मसूद अजहर से पूछताछ नहीं करने देंगे

लंदन/इस्लामाबाद. नवाज शरीफ ने रविवार को पठानकोट हमले के गुनहगारों पर कार्रवाई का भरोसा दिलाया। लेकिन सोमवार सुबह एक मीडिया रिपोर्ट में कहा गया कि पाकिस्तान भारत को इस हमले के मास्टरमाइंड मौलाना मसूद अजहर से पूछताछ की इजाजत नहीं देगा।
भारत की किस मांग पर पलटा पाकिस्तान…
– पाकिस्तानी अखबार ‘द नेशन’ ने पाक सरकार के सूत्रों के हवाले से खबर दी है कि भारत ने पाकिस्तान के सामने मौलाना मसूद अजहर से ज्वाइंट इंटेरोगेशन की मांग की थी। पाकिस्तान ने इसे नामंजूर कर दिया है।
– पाक सरकार के एक अफसर ने कहा, “भारत ने मसूद अजहर और उसके भाई से पूछताछ की इजाजत मांगी थी लेकिन हमने पोलाइटली इनकार कर दिया है।”
क्या कह रहे हैं पाकिस्तानी अफसर?
– इस अफसर ने कहा, “दरअसल, भारत हमारे ऊपर मौलाना मसूद अजहर और हाफिज सईद को सौंपने का दबाव बना रहा है। हम कई बार इससे इनकार कर चुके हैं। अब वो अजहर से पूछताछ करना चाहते हैं लेकिन हम इसकी भी इजाजत नहीं दे सकते।”
– इस अफसर ने ये भी कहा कि जब हम भारत को इन लोगों के खिलाफ एक्शन लेने का भरोसा दे चुके हैं तो वहां से इस तरह की मांग क्यों की जा रही है?
रविवार को नवाज शरीफ ने क्या भरोसा दिलाया था?
– नवाज शरीफ ने रविवार को कहा था कि उन्होंने नरेंद्र मोदी से बात की है और दोनों देश पठानकोट हमले के गुनगहारों पर आपसी मदद से कार्रवाई करेंगे। शरीफ ने यह भी कहा था कि पाकिस्तान चाहता तो भारत के दिए एविडेंस की बात को छुपा सकता था, लेकिन हम साफ कह रहे हैं कि हमें भारत से कुछ नए सबूत मिले हैं।
– बता दें कि बराक ओबामा ने रविवार को ही पाकिस्तान से पठानकोट हमले के दोषियों और आतंकी संगठनों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी।
अब क्या कर रहा है पाकिस्तान…
– दावोस में वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम से लौटते वक्त शरीफ ने कहा- भारत से मिले सबूतों की जांच की जा रही है। हम आरोपियों को कानून के दायरे में जरूर लाएंगे।
– शरीफ ने कहा, “हमने एक स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम भी बनाई है। ये टीम भारत जाएगी और वहां से और सबूत जुटाएगी। आतंकवाद के खिलाफ हमारी लड़ाई जारी रहेगी।”
– पाक पीएम ने आगे कहा, “मैंने नरेंद्र मोदी से बात की है। मोदी ने भरोसा दिलाया है कि वो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई में हर मुमकिन मदद करेंगे। हम सही रास्ते पर आगे बढ़ रहे हैं। उम्मीद है कि दोषियों को सजा दिलाई जा सकेगी।”
– शरीफ ने ये भी कहा कि भारत ने पुख्ता और एक्शन लेने लायक इन्फॉर्मेशन दी है। बता दें कि पाकिस्तान के एनएसए नसीर खान जंजुआ और भारत के एनएसए अजीत डोभाल के बीच भी 5 जनवरी को इस मुद्दे पर बातचीत हुई थी।
अजहर न अरेस्ट किया गया है और न नजरबंद
पठानकोट हमले के मास्टरमाइंड मसूद अजहर को पाकिस्तान ने न तो अरेस्ट किया और न ही नजरबंद। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के जिन तीन लोगों को लाहौर से पकड़ा गया है, उनका हमले से कोई लेना-देना नहीं है।
भारतीय इंटेलिजेंस एजेंसियों की रिपोर्ट में क्या हुआ खुलासा…
– पाक ने अजहर या जैश के खिलाफ कोई केस दर्ज नहीं किया है।
– जैश के जिन तीन लोगों को पकड़ा गया है, उन पर सिर्फ जिहादी लिटरेचर रखने का आरोप है।
– अफसरों का कहना है कि मसूद को हिरासत में लेने की खबरें कुछ पाकिस्तानी एजेंसियों की झूठी पब्लिसिटी थी, ताकि भारत का ध्यान भटकाया जा सके।
– पंजाब के कानून मंत्री राणा सनउल्लाह ने भी कहा कि पठानकोट हमले की जांच के लिए बनी ज्वाइंट इन्वेस्टिगेशन टीम का काम पूरा होने तक कोई भी इन्फॉर्मेशन पब्लिक नहीं होगी।
इससे पहले आई थी मसूद की गिरफ्तारी की खबरें
– पाक के लोकल मीडिया ने पिछले हफ्ते कहा था कि जैश-ए-मोहम्मद का सरगना मसूद अजहर अरेस्ट हो चुका है।
– खुफिया एजेंसियों ने लाहौर यूनिवर्सिटी ऑफ मैनेजमेंट साइंस के स्टूडेंट उस्मान सरवर, साद मुगल और कासिफ को बीते बुधवार अरेस्ट किया था।
– भारत ने जो पांच मोबाइल नंबर पाकिस्तान को दिए थे, वे नंबर इन लोगों के बताए गए थे।
– पाकिस्तानी अफसरों ने 11 जनवरी को इस्लामाबाद के सेक्टर- G 10/4 में छापा मारा था। यह घर अजहर के ब्रदर-इन-लॉ अशफाक अहमद का है।
– पाकिस्तानी मीडिया के मुताबिक, अजहर इसी घर में छिपा हुआ था। उसे पता था कि एजेंसियां उसे पेशावर, बहावलपुर और लाहौर में खोज रही हैं। इसलिए वह इस्लामाबाद में जा छिपा। लेकिन अब कहा जा रहा है कि अजहर की गिरफ्तारी नहीं हुई है।
कब हुआ पठानकोट हमला और इस केस में अब तक क्या हुआ…
– 2 जनवरी की सुबह 6 पाकिस्तानी आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला किया। इसमें 7 जवान शहीद हो गए।
– 36 घंटे एनकाउंटर और तीन दिन कॉम्बिंग ऑपरेशन चला।
– हमले का मास्टरमाइंड जैश-ए-मोहम्मद का चीफ मौलाना मसूद अजहर है।
– अजहर को 1999 में कंधार प्लेन हाईजैक केस में पैसेंजरों की रिहाई के बदले छोड़ा गया था।
– भारत ने आतंकियों की उनके हैंडलर्स से बातचीत की कॉल डिटेल्स और उनसे मिले पाकिस्तान में बने सामानों के सबूत पड़ोसी देश को सौंपे हैं।
– पाक मीडिया का दावा है कि मसूद अजहर को हिरासत में लिया जा चुका है। लेकिन पाकिस्तान इससे इनकार कर रहा है।
– इस बीच, भारत-पाक फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की 15 जनवरी को होने वाली बातचीत टल चुकी है।