पठानकोट हमला: आतंकी हमले की जांच काे पहली बार भारत अाएंगे पाक के अफसर

इस्लामाबाद।भारत ने पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले की जांच कर रही पाक की संयुक्त जांच टीम (जेआईटी) को वीजा दे दिया है। टीम 27 मार्च को भारत आएगी और 28 मार्च से काम शुरू करेगी। यह पहला मौका है जब पाक के खुफिया और पुलिस अफसरों की टीम आतंकी हमले की जांच के लिए भारत आ रही है। दो जनवरी को पठानकोट एयरबेस पर हमला हुआ था। इसमें सात सुरक्षाकर्मी शहीद हुए थे जबकि छह आतंकियों को मार गिराया गया था। पाक मीडिया के मुताबिक जेआईटी पठानकोट हमले में इस्तेमाल किए गए हथियारों की जांच करेगी। पीड़ितों के बयान भी दर्ज करेगी।
यह होंगे टीम में…
पाकिस्तान की संयुक्त जांच टीम (जेआईटी) में मिलिट्री इंटेलीजेंस के साथ ही पुलिस अधिकारी शामिल हैं। इनका नेतृत्व पंजाब काउंटर टेररिज्म डिपार्टमेंट (सीटीडी) के एआईजी मुहम्मद ताहिर राय करेंगे। अन्य सदस्यों में इंटेलीजेंस ब्यूरो के लाहौर स्थित डिप्टी डायरेक्टर जनरल मोहम्मद अजीम अरशद, आईएसआई के लेफ्टिनेंट कर्नल तनवीर अहमद, मिलिट्री इंटेलीजेंस के लेफ्टिनेंट कर्नल इरफान मिर्जा और गुजरांवाला सीटीडी के जांच अधिकारी शाहिद तनवीर शामिल हैं।
सलविंदर से एनआईए ने की पूछताछ
पठानकोट एयरबेस पर आतंकी हमले के सिलसिले में एनआईए ने शुक्रवार को एक बार फिर पुलिस अफसर सलविंदर सिंह और उनके कुक मदन गोपाल से पूछताछ की। पाकिस्तान की विशेष टीम पठानकोट हमले की जांच करने 27 मार्च को भारत आ रही है। इसी सिलसिले में सलविंदर और उनके कुक को दिल्ली बुलाकर कई घंटे तक पूछताछ की गई। जानकारी के मुताबिक भारत आ रही पाकिस्तानी टीम को एयरबेस के तकनीकी एरिया में नहीं जाने दिया जाएगा। साथ ही सलविंदर और उनके कुक से भी पूछताछ करने की इजाजत नहीं दी जाएगी।
सुषमा की बैठक में बनी थी सहमति
नई दिल्ली| भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने 17 मार्च को सार्क देशों के मंत्रियों की बैठक में पाकिस्तानी समकक्ष सरताज अजीज से मुलाकात की थी। इसमें उन्होंने पाक जेआईटी को भारत आने देने पर सहमति दी थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *