पहली बार होगा T-20 एशिया कप: इंडिया बन सकती है चैम्पियन, PAK के खिलाफ 4 बातें

नई दिल्ली। 24 फरवरी से शुरू हो रहे एशिया कप टी-20 के लिए टीमें बांग्लादेश पहुंच चुकी हैं।

 आपको बता रहा है क्यों टीम इंडिया बन सकती है चैम्पियन और कौन सी बातें है बाकी टीमों के खिलाफ।
टीम इंडिया क्यों बन सकती है चैम्पियन…
 – इंडिया ने पिछली दो सीरीज में ऑस्ट्रेलिया और श्रीलंका को हराया।
– ऑस्ट्रेलिया को उसके घर में 3-0 से और श्रीलंका को भारत में 2-1 से हराया।
– चारों दावेदारों में सबसे बैलेस्ड साइड धोनी ब्रिगेड है। आईसीसी रैंकिंग में नंबर वन पोजीशन पर भी टीम इंडिया है।
– रोहित-धवन जैसी ओपनिंग जोड़ी टीम के पास है तो मिडिल ऑर्डर में विराट, रैना, रहाणे, युवराज और धोनी जैसे प्लेयर भी हैं।
– विराट की वापसी से टीम को और मजबूती मिलेगी।
– हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, युवराज सिंह और सुरेश रैना जैसे खिलाड़ी हैं। ऑलराउंडर की कमी को पूरा करेंगे।
– बॉलिंग में भी धोनी के पास अश्विन और हरभजन हैं तो डेथ ओवर्स में यॉर्कर करने की क्षमता रखने वाले जसप्रीत बुमराह भी हैं।
– अनुभवी नेहरा की वापसी ने टीम की सबसे कमजोर कड़ी को मजबूत किया है।
– आईपीएल ऑक्शन में सबसे मंहगे भारतीय प्लेयर रहे पवन नेगी पर भी सबकी नजर होगी।
– टीम इंडिया अपना पहला मैच 24 फरवरी को मेजबान बांग्लादेश के खिलाफ खेलेगी।
ये बातें होंगी पहली बार
– टी-20 फॉर्मेंट में खेला जाएगा टूर्नामेंट।
– मेन टूर्नामेंट से पहले क्वालिफिकेशन राउंड होंगे।
– इस बार कुल आठ टीमें टूर्नामेंट में हिस्सा लेंगी। अब तक अधिकतम 6 टीमें ही टूर्नामेंट में खेली हैं।
– चार टीमें यूएई, अफगानिस्तान, हांगकांग और ओमान क्वालिफिकेशन राउंड में खेल रही हैं।
– मेन टूर्नामेंट में भारत, पाकिस्तान, श्रीलंका और बांग्लादेश के अलावा क्वालिफिकेशन राउंड की चैम्पियन टीम खेलेगी।
– ओमान पहली बार एशिया कप में हिस्सा ले रहा है।
 पाकिस्तान के खिलाफ हैं ये बातें
– हाल ही में न्यूजीलैंड से टी-20 सीरीज में 2-1 से हारे हैं।
– हार के बाद ओपनर अहमद शहजाद सहित टीम से चार प्लेयर्स को बाहर कर दिया गया।
– आफरीदी अभी भी टी-20 के लिए सही कॉम्बिनेशन की तलाश कर रहे हैं।
– लेफ्ट ऑर्म पेसर रुमान राईस और ऑलराउंडर मोहम्मद नवाज जैसे युवा खिलाड़ियों को टीम में शामिल किया गया है। इनका इंटरनेशनल क्रिकेट
का एक्सपीरियंस नहीं होना भी टीम के खिलाफ जा सकता है।
श्रीलंका पूरी नहीं कर सका संगा-महेला की कमी
– एशिया कप की तैयारी सीरीज के रूप में खेली गई भारत-श्रीलंका सीरीज में लंका को 2-1 से हार मिली थी।
– 2014 की वर्ल्ड चैम्पियन इस समय आईसीसी रैंकिंग में 5th नंबर पर है।
– कप्तान मलिंगा, वनडे और टेस्ट कैप्टन एंजेलो मैथ्यूज और रंगना हेराथ की वापसी के बाद भी उतनी स्ट्रॉन्ग नहीं दिख रही।
– टीम में संगकारा और महेला जयवर्धने की जगह अभी भी भरी नहीं जा सकी है।
– तिलकरत्ने दिलशान अपने करियर के आखिरी पड़वा में हैं। उनकी फॉर्म भी टीम की परेशानी बढ़ा सकती है।
बांग्लादेश: तमीम की कमी पड़ सकती है भारी
– हाल में खेली गई सीरीज में साउथ अफ्रीका के खिलाफ हारे जबकि जिम्बाबवे से ड्रॉ खेला।
– टीम के सबसे भरोसेमंद बैट्समैन तमीम इकबाल अपने होने वाले बच्चे के कारण टीम में नहीं हैं। इससे टीम को नुकसान हो सकता है।
– भारत, श्रीलंका और पाकिस्तान की तुलना में कम टी-20 खेलना भी बांग्लादेश के खिलाफ जा सकता है।
– आईसीसी रैंकिंग में मशरफे मुर्तजा की टीम अफगानिस्तान से भी नीचे 9th नंबर पर है।
जानें क्वालिफिकेशन राउंड में खेली टीमों को
– अफगानिस्तान 2014 में भी इस टूर्नामेंट में खेल चुका है।
– हांगकांग और यूएई 2004 और 2008 में भी हिस्सा ले चुकी हैं।
– ओमान पहली बार एशिया कप का हिस्सा बना है।

क्यों बदला एशिया कप का फॉर्मेट?

– अब तक एशिया कप वनडे फॉर्मेट में होता था। इस टी-20 में होगा।
– एशियन क्रिकेट काउंसिल अब हर टी-20 और वनडे वर्ल्ड कप से पहले एशिया कप ऑर्गनाइज करेगी।
– टी-20 वर्ल्ड कप से पहले टी-20 फॉर्मेट में और वनडे वर्ल्ड कप से पहले वनडे फॉर्मेट में।
कब और कहां खेले जाएंगे मैच
– मेन राउंड के सभी मैच मीरपुर के शेर-ए-बांग्ला नेशनल क्रिकेट स्टेडियम में खेले जाएंगे।
– सभी मैच इंडियन टाइम के मुताबिक शाम सात बजे से शुरू होंगे।
– इससे पहले क्वालिफिकेशन राउंड के सभी मैच फतुल्ला के खान साहेब उस्मान अली स्टेडियम में खेल गए।
कब से हुई एशिया कप की शुरुआत?
– 1983 में एशियन क्रिकेट काउंसिल का गठन हुआ।
-1984 में खेले गए पहले एशिया कप में भारत चैम्पियन और श्रीलंका रनर-अप रहा।
– यूएई के शरजाह में हुए इस टूर्नामेंट में पाकिस्तान तीसरी टीम थी।
कौन रहा सबसे ज्यादा बार चैम्पियन?
– 1984 में शुरू हुए टूर्नामेंट का ये 14th एडिशन है।
– भारत और श्रीलंका सबसे ज्यादा 5-5 बार इसके चैम्पियन रहे हैं।
– 2 बार पाकिस्तान विजेता रहा जबकि 1993 में टूर्नामेंट कैंसिल हो गया था।
कब हुई बांग्लादेश की इंट्री?
– बांग्लादेश में लगातार तीसरी और कुल पांचवीं बार ये टूर्नामेंट हो रहा है।
– 1986 में पहली बार बांग्लादेश ने एशिया कप में हिस्सा लिया।
– हालांकि मेजबान श्रीलंका से खराब रिलेशन के चलते भारत ने इस टूर्नामेंट में हिस्सा नहीं लिया।
-1988 में पहली बार चार टीमों ने एशिया कप में हिस्सा लिया।
– बांग्लादेश ने पहली बार इस टूर्नामेंट की मेजबानी की।

भारत-पकिस्तान के रिश्तों का कब पड़ा असर?
– 1990-91 में पहली बार टूर्नामेंट भारत में खेला गया पर पाकिस्तान ने इसमें हिस्सा नहीं लिया।
– 1993 में भारत-पाकिस्तान के बीच खराब पॉलिटिकल रिलेशन के चलते टूर्नामेंट कैंसिल करना पड़ा।

पहली बार चार से अधिक देशों ने कब लिया हिस्सा?
– 2004 में पहली बार भारत, पाकिस्तान, बांग्लादेश और श्रीलंका के अलवा किसी देश ने एशिया कप में हिस्सा लिया।
– हांगकांग और यूएई इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली अन्य टीमें थीं।
– 2008 में भी यही छह टीमें एशिया कप में खेलीं।
-2010 में टीमों की संख्या घटाकर 4 कर दी गई।
-2014 में एक बार फिर टीमों की संख्या बढ़ाई गई और अफगानिस्तान इस टूर्नामेंट में हिस्सा लेने वाली पांचवी टीम थी।
एशिया कप के मेन इवेंट का पूरा शेड्यूल
मैच कब टीमें (सभी मैच मीरपुर में होंगे)
1 24 फरवरी इंडिया vs बांग्लादेश
2 25 फरवरी श्रीलंका vs यूएई
3 26 फरवरी बांग्लादेश vs यूएई
4 27 फरवरी इंडिया vs पाकिस्तान
5 28 फरवरी बांग्लादेश vs श्रीलंका
6 29 फरवरी पाकिस्तान vs यूएई
7 1 मार्च इंडिया vs श्रीलंका
8 2 मार्च बांग्लादेश vs पाकिस्तान
9 3 मार्च इंडिया vs यूएई
10 4 मार्च पाकिस्तान vs श्रीलंका
11 6 मार्च फाइनल
कब कौन रहा चैम्पियन
सन चैम्पियन रनर-अप होस्ट
1984 भारत श्रीलंका यूएई
1986 श्रीलंका पाकिस्तान श्रीलंका
1988 भारत श्रीलंका बांग्लादेश
1990 भारत श्रीलंका भारत
1995 भारत श्रीलंका यूएई
1997 श्रीलंका भारत श्रीलंका
2000 पाकिस्तान श्रीलंका बांग्लादेश
2004 श्रीलंका भारत श्रीलंका
2008 श्रीलंका भारत पाकिस्तान
2010 भारत श्रीलंका श्रीलंका
2012 पाकिस्तान बांग्लादेश बांग्लादेश
2014 श्रीलंका पाकिस्तान बांग्लादेश