पाकिस्तान में मृत्युदंड पर लगी रोक हटाने के बाद दो आतंकवादियों को फांसी

पाकिस्तान में कल रात फैसलाबाद में दो आतंकवादियों – अकील उर्फ डॉक्टर उस्मान तथा अरशद महमूद को फांसी दी गई।  फांसी देने पर लगी रोक हटाने की प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की घोषणा के बाद फांसी

का यह पहला मामला है। उस्मान सेना की मेडिकल कोर में सैनिक था, जिसे रावलपिंडी में 2009 में सेना मुख्‍यालय पर हमले के सिलसिले में फांसी की सजा सुनाई गयी थी। अरशद महमूद को पूर्व राष्ट्रपति जनरल मुशर्रफ पर जानलेवा हमले में दोषी ठहराया गया था। खैबर पखतूनख्वा प्रांत में आतंकवाद रोधी अधिनियम के तहत सात कैदियों को फांसी की सजा सुनाई गई है और उन्हें भी फांसी दिये जाने की संभावना है। इससे पहले संयुक्त राष्ट्र ने पाकिस्तान से अनुरोध किया था कि वह फिर से फांसी देने की शुरूआत न करें। इस बीच, पाकिस्तानी सेना ने कल अफगानिस्तान की सीमा के निकट के क्षेत्रों में तालिबान के ठिकानों पर कार्रवाई की जिसमें 59 आतंकवादी मारे गए।