हजारों करोड़ रुपये के पंजाब नेशनल बैंक घोटाले में फंसे ज्‍वेलरी कारोबारी नीरव मोदी के खिलाफ इंटरपोल ने रेड कॉर्नर नोटिस जारी कर दिया है। इंटरपोल ने नीरव के भाई निशाल मोदी और उनकी कंपनी के र्कायकारी सुभाष पराब के खिलाफ भी रेड कॉर्नर नोटिस जारी किया है। पंजाब नेशनल बैंक में 13 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी प्रकाश में आने के बाद नीरव के साथ उनके मामा मेहुल चौकसी तथा अन्य के खिलाफ विभिन्न एजेंसियों द्वारा जांच की जा रही है।

इससे पहले फरार नीरव मोदी के खिलाफ विशेष अदालत ने प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) को प्रत्यर्पण की कार्रवाई शुरू करने की अनुमति दे दी है। ईडी ने सोमवार को उसके प्रत्यर्पण के संबंध में अर्जी दी थी। नीरव और उसके मामा मेहुल चोकसी के खिलाफ सरकार की कई एजेंसियां जांच कर रही हैं। सीबीआइ और ईडी ने दोनों के विदेश भागने के बाद उनके खिलाफ दो एफआइआर भी दर्ज की थी।

नीरव के खिलाफ मनी लांड्रिंग केस की सुनवाई करते हुए विशेष अदालत के जज एमएस आजमी ने ईडी को कार्रवाई शुरू करने की अनुमति दी। ईडी के वकील हितेन वेंगावकर ने कहा कि वे इस आदेश को विदेश मंत्रालय भेजेंगे, जो इसे ब्रिटिश सरकार को भेजेंगे। ईडी से जुड़े सूत्रों के मुताबिक एजेंसी ने कई अन्य देशों को भी प्रत्यर्पण की अर्जी भेजी है। ऐसा नीरव मोदी के लगातार ठिकाने बदलने के चलते किया जा रहा है। नीरव मोदी के खिलाफ पेश की गई चार्जशीट का संज्ञान लेते हुए अदालत ने नीरव मोदी के खिलाफ गैर जमानती वारंट भी जारी किया था।