पीएम मोदी का इजरायली कंपनियों को भारत में निवेश का न्योता

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज इजरायल की कंपनियों को भारत में निवेश के लिए आमंत्रित करते हुए और आर्थिक सुधारों का वादा किया. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में कारोबार सुगमता की स्थिति को बेहतर करने के लिए और आर्थिक सुधार लागू किए जाएंगे. इस मौके पर इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू भी मौजूद थे. मोदी ने इस अवसर पर इजरायली कंपनियों को भारत में निवेश का न्योता दिया.

सुधारों का जिक्र किया
आज भारत-इजरायल उद्यमियों के एक संयुक्त सम्मेलन को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने सिंगल ब्रांड रिटेल सेक्टर को प्रत्यक्ष विदेशी निवेश के लिए और खोलने के हाल के फैसले का जिक्र किया. इसके अलावा उन्होंने राष्ट्रीय एयरलाइन एयर इंडिया में विदेशी विमानन कंपनियों को हिस्सेदारी लेने की अनुमति का भी उल्लेख किया. मोदी ने कहा कि सरकार ने उल्लेखनीय सुधार किए हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘कंपनियों के सामने आने वाले विभिन्न नियामकीय मुद्दों को हल किया गया है. उन्होंने कहा, ‘‘हम रुकेंगे नहीं. हम और और बेहतर करना चाहते हैं.’’ मोदी ने कहा कि हर दिन देश में कारोबार करने को आसान किया जा रहा है. उन्होंने माल और सेवा कर (जीएसटी) को लागू करने और पारदर्शी टैक्स प्रणाली को उपलब्धियां बताया.

उन्होंने कहा, ‘‘भारत दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है, एफडीआई फ्लो अपने सबसे उच्च स्तर पर है. हम पिछले तीन साल के दौरान बड़े और छोटे दोनों स्तर पर कदम उठा रहे हैं.’’ प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘पूंजी और टेक्नोलॉजी का प्रवेश सुनिश्चित करने के लिए रक्षा सहित ज्यादातर क्षेत्रों को विदेशी निवेश के लिए खोला गया है. अब 90 फीसदी से अधिक एफडीआई मंजूरियों को स्वत: मंजूर मार्ग पर डाला गया है.’’ मोदी ने कहा, ‘‘हम दुनिया की सबसे मुक्त अर्थव्यवस्थाओं में से हैं.’’

सरकार और लोगों के साथ भारत का कारोबारी समुदाय इजरायल के साथ हाथ मिलाना चाहता है

मोदी ने कहा, ‘‘भारत का विकास एजेंडा काफी विशाल है जो इजरायली कंपनियों को भारी अवसर प्रदान करता है.’’ वर्ष 2006 में गुजरात के मुख्यमंत्री के रूप में इजरायल यात्रा का उल्लेख करते हुए मोदी ने कहा कि हमेशा से मेरे मन में इजरायल और वहां के लोगों के लिए सम्मान रहा है. ‘‘पिछले साल जुलाई में मैं इजरायल गया था. वहां मैंने नवोन्मेषण, उद्यमशीलता और दृढ़ता का अनुभव किया, जिसकी वजह से इजरायल आगे बढ़ रहा है.’’ प्रधानमंत्री ने कहा कि सरकार और लोगों के साथ भारत का कारोबारी समुदाय इजरायल के साथ हाथ मिलाना चाहता है.

मोदी ने कहा, ‘‘हम भारत-इजरायल संबंधों के नए उभार पर खड़े हैं. यह अवसर हमारे लोगों और जीवनस्तर को बेहतर करने के आपसी हित के मौकों से पैदा हुआ है.’’ मोदी ने कहा कि हाल में शुरू किया गया भारत इजरायल इनोवेशन ब्रिज दोनों राष्ट्रों के स्टार्ट अप्स के बीच संपर्क का काम करेगा.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं कहता रहा हूं कि भारतीय उद्योगों, स्टार्ट अप्स और शैक्षणिक संस्थानों को अपने इजरायल समकक्षों के साथ साझेदारी करनी चाहिए और जिससे ज्ञान के भारी भंडार तक पहुंचा जा सके.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *