पीएम मोदी को मनमोहन की चिट्ठी, कहा- नेहरू की विरासत तीन मूर्ति मेमोरियल को ना बदलें

नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिहं ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चिट्ठी लिखकर तीन मूर्ति कॉम्प्लेक्स स्थित नेहरू मेमोरियल म्यूजियम और लाइब्रेरी के स्वरूप में बदलाव ना करने को कहा है. अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक पीएम मोदी को लिखी इस चिट्ठी में मनमोहन सिंह ने लिखा है कि नेहरू सिर्फ कांग्रेस के नहीं बल्कि पूरे देश के नेता थे.

 

पिछले हफ्ते भेजे इस पत्र में मनमोहन सिंह ने लिखा, ”जवाहर लाल नेहरू सिर्फ कांग्रेस के नहीं बल्कि पूरे देश के नेता थे. इसी भावना के साथ मैं आपको यह पत्र लिख रहा हूं.” मनमोहन सिंह ने लिखा कि सरकार एजेंडे के तहत नेहरू म्यूजियम और लाइब्रेरी का स्वरूप और प्रकृति बदलना चाहती है, सरकार को ऐसा नहीं करना चाहिए.

पत्र में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने दिवंगत प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का जिक्र करते हुए लिखा कि पूर्व पीएम वाजपेयी के छह साल के कार्यकाल के दौरान एक बार भी दोनों स्थलों में किसी भी बदलाव की कोशिश नहीं हुई. लेकिन इस सरकार का ऐसा ही एजेंडा प्रतीत होता है.

बता दें कि डॉ. मनमोहन सिंह का यह पत्र ऐसे समय में आय है जब खबर है कि सरकार तीन मूर्ति भवन में सभी प्रधानमंत्रियों के लिए म्यूजियम बनाना चाहती है. कांग्रेस आरोप लगा रही है कि सरकार नेहरू की विरासत को खत्म करना चाहती है. दिल्ली का तीन मूर्ति भवन देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू का निवास था. जिसे उनके निधन के बाद इसे म्यूजिम बना दिया गया था.

डॉ. सिंह ने अपने खत में लिखा है, ”पूर्व प्रधानमंत्री नेहरू की विशिष्टता और महानता को उनके राजनीतिक विरोधी भी स्वीकार करते थे. इतिहास और विरासत का सम्मान करते हुए हमें तीन मूर्ति को जैसा है, वैसा ही रहने देना चाहिए.”