पीएम मोदी बोले, आज देश के विराट व्यक्ति को मिला उचित स्थान

पीएम मोदी ने कहा कि, देश के लोकतंत्र से सामान्य जन तक जोड़ने के लिए सरदार पटेल हमेशा समर्पित रहे.  उन्होंने कहा कि देश के एक विराट व्यक्ति को आज उचित स्थान मिला है.
उन्होंने कहा कि, महिलाओं को भारत की राजनीति में सक्रिय योगदान का अधिकार देने के पीछे सरदार वल्लभभाई पटेल का योगदान रहा है.
पीएम मोदी ने कहा कि, देश की इतिहास में ऐसा अवसर भी आता है जो हमें पूर्णता का एहसासा कराता है. वह पल होता जो हमेशा के लिए इतिहास में दर्ज हो जाता है जिसे मिटा पाना मुश्किल होता है. आज जो पल  है वह बेहद महत्वपूर्ण है. भारत के वर्तमान ने आज सरदार पटेल जैसे विराट और स्वर्णिम पृष्ठ को उजागर करने का काम किया है.
यह मेरा सौभाग्य है कि, मुझे सरदार पटेल की इस  विशाल प्रतिमा को देश को समर्पित करने का अवसर मिला है. जब मैं गुजरात का मुख्यमंत्री था तो इसकी कल्पना की थी  तो यह पता नहीं था प्रधानमंत्री के तौर पर मुझे यह पुण्य कार्य करने का मौका मिलेगा.
मोदी बोले, ‘सरदार पटेल के इस आशिर्वाद के लिए खुद को धन्य मानता हूं. आज गुजरात के लोगों ने जो अभिनंदन पत्र दिया है उसके लिए भी मैं गुजरात की जनता का आभारी हूं.
यह मेरे लिए सम्मान पत्र या अभिनंदन पत्र नहीं है, लेकिन जिस मिट्टी में पल बढ़ा और संस्कार पाए, जैसे मां अपने बच्चे के पीठ पर हाथ रखती है तो ऊर्जा हजारों गुणा बढ़ जाता है. इसी तरह आपके इस सम्मान पत्र से मैं वैसा ही महसूस कर रहा हूं.’
‘मैं सरदार पटेल को शत-शत नमन करता हूं. सरदार पटेल में कौटिल्य की कूटनीति और शिवाजी महाराज के शौर्य का समावेश था.’
सरदार पटेल का संकल्प नहीं होता तो गिर के शेर को देखने के लिए और सोमनाथ और हैदराबाद के चारमिनार को देखने के लिए हम हिंदुस्तानियों को वीजा लेना पड़ता. यह सरदार का संकल्प था जिसके कारण कश्मीर से कन्याकुमारी तक सीधी ट्रेन आई.
अगर सरदार पटेल का संकल्प नहीं होता तो सिविल सर्विसेज जैसे प्रशासनिक ढांचा खड़ा करने में काफी परेशानी होती.
सरदार पटेल को उस वक्त देश का गृह मंत्री बनाया गया था जब देश में काफी चुनौतियां थीं. देश में अस्त-व्यस्त कानून व्यवस्था थी. उससे उन्होंने देश को उबारा.
 
सरदार पटेल की स्मारक के बारे में बोलते हुए पीएम  ने कहा कि, ये उंचाई ये बुलंदी भारत के युवाओं को याद दिलाने के लिए है कि, भविष्य का भारत आपकी आकांक्षाओं का है जो इतनी ही विराट है. उन आकांक्षाओं को पूरा करने का  एक मंत्र है एक भारत, श्रेष्ठ भारत.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *