पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्‍टर मनमोहन सिंह ने कहा है कि उन्‍होंने अपने पद का दुरूपयोग नहीं किया।

पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्‍टर मनमोहन सिंह ने कहा है कि उन्‍होंने अपने, अपने परिवार या मित्रों के फायदे के लिए कभी भी अपने पद का दुरूपयोग नहीं किया। नई दिल्‍ली में भारतीय राष्‍ट्रीय छात्र संघ के सम्‍मेलन में डाक्‍टर सिंह ने यह बात कही। जहां तक मेरा संबंध है मैं कहना चाहता हूं कि मैंने अपने पद का इस्‍तेमाल अपने, अपने परिवार के या अपने दोस्‍तों के फायदे के लिए नहीं किया है। श्री सिंह ने कहा कि यूपीए हमेशा भ्रष्‍टाचार से लड़ती रही है और वह बिना कोई समझौता किए अपनी यह लड़ाई जारी रखेगी। डाक्‍टर सिंह ने कहा कि उन्‍हें यूपीए सरकार की उपलब्धियों पर गर्व है और समूची कांग्रेस पार्टी आम आदमी के कल्‍याण के लिए काम कर रही है।

पूर्व प्रधानमंत्री ने कहा कि नीतिगत निष्क्रियता का भाजपा का आरोप सच नहीं है। उन्‍होंने कहा कि यूपीए ने जब एनडीए को सत्‍ता सौंपी थी, तब भारत दुनिया की दूसरी सबसे तेज़ गति से विकास करने वाली अर्थव्‍यवस्‍था थी। डाक्‍टर सिंह ने कहा कि यूपीए के दस वर्ष के शासनकाल में देश की वृद्धि दर का वार्षिक औसत साढ़े आठ प्रतिशत रहा। उन्‍होंने आरोप लगाया कि भाजपा गैर मुद्दों की ओर लोगों का ध्‍यान आकर्षित करने के लिए भ्रष्‍टाचार का राग अलाप रही है। उन्‍होंने यह भी आरोप लगाया कि लोकतांत्रिक संस्‍थाओं को नरेन्‍द्र मोदी सरकार से खतरा है।