पूर्व भाजपा सीएम बाबूलाल गौर ने कांग्रेस नेता आरिफ अकील से कहा- बधाई हो आप मंत्री बनने वाले हैं, विवाद होने पर दी सफाई

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को विधानसभा चुनाव के तहत मतदान हुआ है और 11 दिसंबर को नतीजों की घोषणा होगी। 11 दिसंबर को ऊंट किस करवट बैठेगा, यह तो भविष्य के गर्भ में है। लेकिन भाजपा नेता और पूर्व मुख्यमंत्री ने कांग्रेस नेता को पहले से ही जीत की बधाई दे दी है। उन्होंने कांग्रेस नेता से हाथ मिलाते हुए कहा, बधाई हो… आप मंत्री बनने वाले हैं।

यही नहीं पूर्व मुख्यमंत्री एवं भाजपा के वयोवृद्ध नेता बाबूलाल गौर ने कहा है कि उनकी पुत्रवधु कृष्णा गौर को भाजपा का टिकट दिलवाने में कांग्रेस ने बड़ी मदद की। यह खुलासा उन्होंने विधायक एवं भोपाल उत्तर से कांग्रेस प्रत्याशी आरिफ अकील से मुलाकात के दौरान किया।
मतदान के बाद अकील सौजन्य मुलाकात के लिए गौर के निवास पर पहुंचे थे। मुलाकात के दौरान गौर ने यह भी कहा कि भाजपा ने पूर्व मंत्री रामकृष्ण कुसमरिया और सरताज सिंह को टिकट न देकर अपना बहुत नुकसान करा लिया। हमदर्दी का वोट अलग ही रहता है। दोनों नेताओं के बीच काफी देर तक चुनावी चर्चा होती रही।

इस दौरान अकील ने गौर से यह भी कहा कि आप नहीं आए हमारी पार्टी में, आ जाते तो आपको टिकट मिल जाता। इस पर गौर ने कहा कि बहू को टिकट दिलवाने में आपकी पार्टी ने बड़ी मदद की। बाद में मीडिया से चर्चा के दौरान अकील ने कहा कि वह गौर का आशीर्वाद लेने आए थे।

‘किसी को बधाई की जगह श्राप तो नहीं दे सकता’

बाबूलाल गौर ने कांग्रेस उम्मीदवार आरिफ अकील से बातचीत पर सफाई देते हुए कहा कि इस तरह की बातों पर राजनीति नहीं करनी चाहिए. ये सिर्फ एक मित्रतावश कही गई बात है. वहीं बीजेपी ने गौर के इस बयान को उनकी निजी राय बताया है.
बता दें कि यह पहला मौका नहीं है, जब बाबूलाल गौर ने इस तरह का बयान देकर अपनी पार्टी को मुश्किल में डाला हो. गौर ने इसके पहले भी कई बार अपने बयान से पार्टी की कार्यशैली पर सवाल खड़े किए थे. गौर ने इसके पहले प्रदेश में बीजेपी के 200 पार के आंकड़े को लेकर कहा था कि 2013 में मोदी लहर थी, लेकिन इस बार सिर्फ कैंडिडेट्स के ऊपर जीत तय होगी. इसके बाद यह चर्चा जोरों पर थी कि क्या प्रदेश में सरकार के किए विकास कार्यों पर वोट मिलेगा या प्रत्याशी के नाम पर.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *