प्रधानमंत्री ने दोहराया-सरकार किसानों की भलाई के लिए भूमि सुधार जारी रखेगी।

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा है कि उनकी सरकार किसानों के लाभ के लिए भूमि कानून में सुधार लाना चाहती है। आज बेंगलुरू में भारतीय जनता पार्टी की राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी को सम्‍बोधित करते हुए उन्‍होंने विपक्षी पार्टियों की आलोचना की और कहा कि वे केवल राजनीति के लिए भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक का विरोध कर रही है। श्री मोदी ने दावा किया कि वे किसानों की दुर्दशा से परिचित हैं क्‍योंकि वे खुद गरीब घर से हैं।

श्री नरेन्‍द्र मोदी ने कहा कि विदेशों में जमा काला धन वापस लाया जायेगा और भविष्‍य में इस तरह की गतिविधियों को रोकने के लिए कड़े प्रयास किए जायेंगे। उन्‍होंने कहा कि कैबिनेट की पहले ही बैठक में काले धन पर विशेष जांच दल के गठन का निर्णय लिया गया। उन्‍होंने कहा कि उनकी सरकार ने काले धन के विरूद्ध अनेक कदम उठाये हैं और जी-20 शिखर सम्‍मेलन में अन्‍तर्राष्‍ट्रीय सहयोग मांगा गया। इससे सरकार के आलोचकों का मुंह बंद हो गया है। श्री मोदी ने कहा कि काले धन के खिलाफ विधेयक लाने के सरकार के कदम ने विपक्ष को चुप करा दिया है।

हमने आते ही पहली कैबिनेट के अंदर एस आर्इ टी बनाने का निर्णय कर लिया और एस आई टी ने काम शुरू कर दिया कानूनी कार्रवाई चल रही है और मैंने विश्‍व के देशों के साथ आंख में आंख मिलाकर कहा कि हम काले धन खिलाफ लडाई लड रहे हैं। आप सारे दुनिया के देश हमारे साथ खडे हो जाइए और जी-20 समिति में दुनिया के ताकतवर देशों ने भारत की इस बात को माना। इसी पार्टियामेंट सत्र के पहले दौर में काले धन के खिलाफ कडी से कडी कार्रवाई का कानून प्रस्‍तुत कर दिया गया।