फेसबुक के CEO जुकरबर्ग बने पिता, बेटी के लिए डोनेट करेंगे अपने 99% शेयर्स

वॉशिंगटन. सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक के को-फाउंडर और सीईओ मार्क जुकरबर्ग ने बुधवार को दो एलान किए। पहला- वाइफ प्रिसिला चान ने बेटी को जन्म दिया है। उसका नाम रखा गया है मैक्स। दूसरा- बेटी के जन्म लेने की खुशी में वे बड़ी चैरिटी करेंगे। यानी फेसबुक में अपने और पत्नी के नाम जितने शेयर हैं, उसका 99 फीसदी हिस्सा आने वाले वर्षों में डोनेट करेंगे।
डोनेशन की वजह?
जुकरबर्ग अपनी बेटी के लिए दुनिया को बेहतर जगह बनाने के मकसद से शेयर डोनेट करना चाहते हैं। इस चैरिटी का नाम होगा चान-जकरबर्ग इनिशिएटिव। जुकरबर्ग ने यह एलान अपने फेसबुक पेज पर किया। इस मैसेज को अब तक 3.60 लाख से ज्यादा लाइक मिल चुके हैं। बता दें कि जुकरबर्ग ने पहले ही ‘गिविंग प्लेज’ साइन किया था। ‘गिविंग प्लेज’ यानी दुनिया के अमीर लोगों का वह कमिटमेंट जिसके तहत वे अपनी आधी से ज्यादा दौलत दान करेंगे।
99 फीसदी यानी कितना? ऐसे समझिए
– न्यूज एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक, फेसबुक की टोटल नेट वर्थ 303 अरब डॉलर यानी 19 लाख करोड़ रुपए है।
– जुकरबर्ग के पास 54 फीसदी शेयर हैं। इन 54 फीसदी में से 99 फीसदी शेयर वे डोनेट करने वाले हैं।
– इस 99 फीसदी शेयर के मायने हैं 45 अरब डॉलर।
– यह रकम रुपए में होती है 2.85 लाख करोड़।
– यानी नेपाल, अफगानिस्तान और साइप्रस जैसे देशों के जीडीपी का दोगुना। तीनों देशों की जीडीपी 20 अरब डॉलर के आसपास है।
– जुकरबर्ग अपने शेयरों का उतना हिस्सा डोनेट करेंगे, जितना दुनिया के 106 देशों की जीडीपी भी नहीं है।
– आईएमएफ वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक के मुताबिक, दुनिया के 106 देशों की जीडीपी 45 अरब डॉलर से कम है।
दुनिया के सबसे कम उम्र के डाेनर
– जकरबर्ग अपने इस एक कदम से दुनिया के सबसे कम उम्र के डोनर बन गए हैं। वे 31 साल के हैं।
– उनसे पहले बर्कशायर हैथवे के वॉरेन बफेट ने 2006 में गेट्स फाउंडेशन को 31 अरब डॉलर का डोनेशन देने का फैसला किया था। तब बफेट 76 साल के थे।
– माइक्रोसॉफ्ट के को-फाउंडर बिल गेट्स ने 2000 में जब बिल एंड मिलिंडा गेट्स फाउंडेशन की शुरुआत की थी, तब उनकी उम्र 45 साल थी।
मैटरनिटी और पैटरनिटी पर मिलती है 4 महीने की छुट्टी
फेसबुक में ऐसा नियम है कि यहां काम करने वाला कोई भी अमेरिकी इम्प्लॉई मैटरनिटी और पैटरनिटी के लिए चार महीने की छुट्टी ले सकता है। प्रिसिला के प्रेग्नेंट होने के बाद जुकरबर्ग ने भी दो महीने की छुट्टी लेने का फैसला किया था। हालांकि, कंपनी के नियम के मुताबिक, वे चार महीने की छुट्टी भी ले सकते थे।
जुकरबर्ग ने लिखा बेटी के नाम लेटर
यह साफ नहीं है कि मैक्स किस तारीख को जन्मी। जुकरबर्ग ने वाइफ प्रिसिला और बेटी मैक्स के साथ फेसबुक पर फोटो शेयर की। उन्होंने बेटी के नाम एक लेटर लिखा।
डियर मैक्स,
तुम्हारी मां और मेरे पास यह बताने के लिए लफ्ज नहीं हैं कि तुमने हमारे फ्यूचर के लिए कितनी उम्मीदें दे दी हैं। तुम्हारी नई जिंदगी वादों से भरी है। हमें उम्मीद है कि तुम खुश रहोगी, सेहतमंद रहोगी, ताकि दुनिया को पूरी तरह एक्सप्लोर कर सकोगी। तुमने हमें दुनिया को उम्मीद के साथ देखने की एक वजह दे दी है।
सभी पेरेंट्स की तरह हम भी चाहते हैं कि तुम हमसे ज्यादा बेहतर तरीके से जिंदगी बिताओ। सुर्खियां भले ही ये बताती हों कि क्या-कुछ गलत हो रहा है, लेकिन दुनिया बेहतर होती जा रही है। हेल्थ सुधर रही है। गरीबी कम हो रही है। नॉलेज बढ़ रहा है। लोग आपस में जुड़ रहे हैं। हर फील्ड में हो रही टेक्नोलॉजी की प्रोग्रेस यह बताती है कि तुम्हारी जिंदगी आज की हमारी जिंदगी से कहीं बेहतर होगी।
हम इसके लिए अपनी तरफ से पूरी कोशिश करेंगे। और यह सिर्फ इसलिए नहीं होगा कि हम तुम्हें प्यार करते हैं, बल्कि यह इसलिए हाेगा, क्योंकि अगली जनरेशन के सभी बच्चों की मोरल रिस्पॉन्सिबिलिटी हम पर है।
हम मानते हैं कि सभी की जिंदगी एक जैसी है। हमारी सोसाइटी की जिम्मेदारी है कि वह सिर्फ अभी जी रहे लोगों के लिए नहीं, बल्कि इस दुनिया में आने वाले लोगों की जिंदगी सुधारने के लिए इन्वेस्ट करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *