‘बर्ड 11’ में तेंदुलकर नहीं, क्रिकेट जगत हैरान

tatpar/18/april

इंग्लैंड के पूर्व अंपायर डिकी बर्ड की सर्वकालिक टेस्ट एकादश में डान ब्रैडमैन और सचिन तेंदुलकर जैसे महान बल्लेबाजों को शामिल नहीं किए जाने से भारतीय क्रिकेट जगत हैरान है. कुछ पूर्व क्रिकेटरों ने तो बर्ड के संयोजन को ‘भेदभावपूर्ण’ और ‘असंतुलित’ करार दिया है.

इस विवादास्पद टीम में पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर के रूप में एकमात्र भारतीय को जगह मिली है जबकि पाकिस्तान के आलराउंडर इमरान खान को इसका कप्तान बनाया गया है.

तेंदुलकर और ब्रैडमैन के अलावा ब्रायन लारा और रिकी पोंटिंग जैसे महान बल्लेबाजों तथा वेस्टइंडीज के दिग्गज तेज गेंदबाजों मैल्कम मार्शल, एंडी रोबर्ट्स, जोएल गार्नर और माइकल होल्डिंग को भी बर्ड की टीम में जगह नहीं मिली है.

अपने 80वें जन्मदिन से पूर्व दिए एक इंटरव्यू में बर्ड ने जिस टीम को चुना उसके अन्य सदस्य बैरी रिचर्डस, विवियन रिचर्डस, ग्रेग चैपल, ग्रीम पोलाक, गैरी सोबर्स, एलेन नाट, शेन वार्न, डेनिस लिली और लांस गिब्स शामिल हैं.

भारत के पूर्व कप्तान अजित वाडेकर का मानना है कि गावस्कर सलामी बल्लेबाज के लिए सही पसंद हैं लेकिन वह तेंदुलकर, ब्रैडमैन और वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों को जगह नहीं मिलने से हैरान हैं.

वाडेकर ने कहा कि इसमें थोड़ा भेदभव है. उन्होंने उन्हीं खिलाड़ियों को चुना है जिन्हें उन्होंने करीब से देखा है लेकिन संयोजन संतुलित नहीं है. गावस्कर को वहां होना ही चाहिए था लेकिन सचिन तेंदुलकर, डान ब्रैडमैन और वेस्टइंडीज के तेज गेंदबाजों का नहीं होना हैरानी भरा है.

वाडेकर ने कहा कि लिली के साथ नयी गेंद कौन साझा करेगा. यह भी हैरानी भरा है कि भारत की बिशन बेदी, इरापल्ली प्रसन्ना, बीएस चंद्रशेखर और आर वेंकटराघवन की भारत की स्टार स्पिन चौकड़ी में से भी किसी को नहीं चुना गया है. एलेन नाट की जगह एडम गिलक्रिस्ट का चयन आदर्श होता. भारत के पूर्व बल्लेबाज चंदू बोर्डे ने कहा कि तेंदुलकर और ब्रैडमैन को शामिल नहीं करना दर्शाता है कि बर्ड कि क्रिकेट की जानकारी कैसी थी.

बोर्डे ने कहा कि यह उसका अपना नजरिया है. निश्चित तौर पर उसने ब्रैडमैन को खेलते हुए नहीं देखा होगा. इस टीम से आप देख सकते हैं कि उसकी क्रिकेट की जानकारी कैसी थी. आंकड़े आपको ब्रैडमैन और तेंदुलकर के बारे में बातएंगे. किसी को उसकी एकादश पर ध्यान देने की जरूरत नहीं है. मेरे नजरिये से इंग्लैंड की मीडिया ने बर्ड को महान अंपायर बनाया. वह हमेशा भेदभाव करता था.

पूर्व भारतीय कप्तान नरी कांट्रैक्टर हैरान हैं कि बर्ड ने किसी आधार पर टीम चुनी कि इसमें तेंदुलकर और ब्रैडमैन जैसे खिलाड़ियों को जगह नहीं मिली. कांट्रैक्टर ने कहा कि यह व्यक्तिगत नजरिया है लेकिन मुझे नहीं पता कि उसने किस आधार पर टीम चुनी. हम सभी को ब्रैडमैन और तेंदुलकर के बारे में पता है. इनके अलावा वेस्टइंडीज की तेज गेंदबाजी चौकड़ी (माइकल होल्डिंग, कोलिन क्राफ्ट, जोएल गार्नर और एंडी रोबर्ट्स) को भी शामिल नहीं किया गया है.

पूर्व भारतीय कप्तानों दिलीप वेंगसरकर और कृष्णमाचारी श्रीकांत ने इस पर प्रतिक्रिया करने से इनकार कर दिया. वेंगसरकर ने कहा कि मैं इस पर प्रतिक्रिया नहीं देना चाहता.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *