बल्लभगढ़ में तनाव बढ़ा: पत्थरबाजी के बाद 50 मुसलमानों ने छोड़ा गांव

पानीपत/फरीदाबाद। हरियाणा के कस्बे बल्लभगढ़ के अटाली गांव में सांप्रदायिक तनाव और बढ़ गया है। गुरुवार को मुस्लिम समुदाय के लोगों ने दोबारा गांव खाली करना शुरू कर दिया। सुबह 10 बजे के करीब 50 लोगों ने गांव छोड़ दिया। इनमें बच्चे, महिलाएं भी शामिल हैं। उन्होंने ये नहीं बताया कि वे कहां जा रहे हैं? उनका कहना है कि दो महीने में दूसरी बार उन पर हमला हुआ है। ऐसे में गांव में रहना मुश्किल है।
बुधवार को भड़की थी हिंसा, दोनों पक्ष ने एक-दूसरे पर लगाए आरोप
अटाली के भोला ने बताया कि बुधवार को उनकी पत्नी मुकेश व एक अन्य महिला गांव के मंदिर में कीर्तन करने बैठी थीं। वहां कुछ दूसरी महिलाएं भी थीं। तभी एक धार्मिक स्थल के अंदर से ईंट फेंकी जाने लगी। इस पथराव में मुकेश व एक अन्य महिला गंभीर रूप से घायल हो गईं। वहीं, गांव के रहने वाले जाहिद का कहना है कि जब वे नमाज पढ़ रहे थे तो उन पर पत्थरबाजी हुई। इसके बाद पुलिस की मौजूदगी में उनके पक्ष के लोगों की पिटाई हुई।
पहले भी भड़क चुकी है हिंसा
25 मई को अटाली गांव में एक धार्मिक स्थल के निर्माण को लेकर गांव के मुस्लिमों पर 2 हजार से ज्यादा लोगों की भीड़ ने हमला किया था। इन्होंने मुसलमानों के घरों में आग लगा दी। डर के कारण करीब डेढ़ सौ मुसलमान परिवारों को गांव से पलायन करना पड़ा। 10 दिन तक बल्लभगढ़ थाने में रहने के बाद पुलिस की सुरक्षा में ये परिवार हाल ही में गांव लौटे थे।