बसन्त पंचमी: ताकि शाही स्नान में न हो चूक

कुंभनगर: दुनिया के सबसे बड़े आध्यात्मिक समागम महाकुंभ में मौनी अमावस्या पर हुई भगदड़ में 37 श्रद्धालुओं की मृत्यु के बाद अब प्रशासन चेता है और कल बसन्त पंचमी को होने वाले तीसरे और अन्तिम शाही स्नान के मद्देनजर वह अब कोई चूक नहीं होने देना चाहता है। बसन्त पंचमी के अवसर पर कल होने वाले तीसरे और अंतिम शाही स्नान पर व्यवस्था चौक चौबंद रखने के लिए कल शाम मैराथन बैठक हुई।

कल के स्नान में करीब एक करोड 60 लाख लोगों के आने की सम्भावना है। तीसरे शाही स्नान पर्व के दौरान सम्भावित वर्षा को ²ष्टिगत रखते हुए मेला से सम्बंधित कतिपय व्यवस्थाओं के सम्बंध में आयुक्त देवेश चतुर्वेदी की अध्यक्षता में यहां एक बैठक हुई जिसमें सभी मुद्दों और सम्भावनाओं पर गहनता से विचार-विमर्श किया गया।

चतुर्वेदी ने कहा कि मौसम विभाग ने यह जानकारी दी है कि 15 से 17 फरवरी के मध्य इलाहाबाद में भारी वर्षा होने की संभावना है। यह भी अवगत कराया गया है कि संगम क्षेत्र में 15 फरवरी के बाद मध्यम स्तर की वर्षा तथा 16व 17 फरवरी को भारी वर्षा होने की सम्भावना है। इस सम्बंध में पूरी तैयारी किए जाने के निर्देश दिए गए हैं।