बीजेपी-आरएसएस के टारगेट पर हैं राहुल, गुजरात में हुई थी हत्या की कोशिश

पटना.आरजेडी प्रमुख लालू यादव ने चार अगस्त को गुजरात में राहुल गांधी की कार पर हुए हमले को बीजेपी और आरएसएस की साजिश बताया। मंगलवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में लालू ने कहा कि राहुल गांधी को ये लोग टारगेट किए हुए हैं। उनकी हत्या करने की कोशिश की गई। वे राहुल गांधी को मिटाना चाहते हैं। बीजेपी विपक्ष को टारगेट कर रही है। इसी चलते मेरे परिवार को फंसाया गया। उत्तरप्रदेश में मायावती के साथ भी वही हो रहा है।
नीतीश ने किया पॉलिटिकल सुसाइड…
– लालू ने कहा कि नीतीश को नरेंद्र मोदी ने अपने कब्जे में ले लिया है। मोदी नीतीश को यहां वहां घुमाएंगे और लोकसभा चुनाव में दो सीट दे देंगे। नीतीश ने पॉलिटिकल सुसाइड कर लिया है। अब उनके पास कोई चारा नहीं है।
– बालू माफिया सुभाष यादव द्वारा रैली के लिए फंड देने के आरोप पर लालू ने कहा कि हमारी रैली में पूरे बिहार से लोग अपने खर्च से आएंगे। हमलोग रैली के लिए एक पैसा किसी को नहीं देते। बीजेपी तो करोड़ों रुपए रैली के लिए खर्च करती है।
– आईएएस ऑफिसर की बेटी को हरियाणा बीजेपी अध्यक्ष का बेटा खींचने की कोशिश कर रहा था। चारों तरफ जंगल राज हो गया है।
– भाजपा और आरएसएस राहुल गांधी को मिटाना चाहते हैं। ये उन्हें मरवाना चाहते हैं। वे विपक्ष को निशाना बना रहे हैं। इसी का नतीजा है कि मेरे परिवार को टारगेट किया गया।
बाढ़ प्रभावित इलाके में गए थे राहुल
– गौरतलब है कि 4 अगस्त को राहुल गांधी गुजरात के बाढ़ प्रभावित इलाके बनासकांठा के दौरे पर गए थे।
– यहां कुछ लोगों ने राहुल गांधी की कार पर पत्थर फेंका था, जिससे राहुल की कार का पिछला शीशा टूट गया था, हालांकि उन्हें चोट नहीं आई थी।
– लाल चौक के जिस इलाके में राहुल गांधी पहुंचे थे। वहां लोगों ने नरेंद्र मोदी के समर्थन में नारेबाजी की और राहुल को काले झंडे दिखाए। हालात देखकर राहुल वहां से फौरन चले गए थे।
सिर उठाने लगी हैं कम्युनल ताकतें
– ‘जनादेश अपमान यात्रा’ के लिए चम्पारण जाने से पहले तेजस्वी ने कहा कि भाजपा के सरकार में आते ही बिहार में कम्युनल ताकतें सिर उठाने लगी हैं। हम जनता के बीच जाकर नीतीश के छलावे की बात रखेंगे।
– अगर मैं इस्तीफा दे भी देता तो भी नीतीश वही करते। नीतीश ने भाजपा से मिलने का मन बना लिया था। मैं जनता के बीच जाकर सारी बात रखूंगा।
– संघ मुक्त भारत कहने वाले नीतीश कुमार अब उन्हीं के गोद में जाकर बैठ गए हैं। जनता हमारे साथ है।
सीवान से क्यों नहीं शुरू की यात्रा
– तेजस्वी की चम्पारण यात्रा पर जदयू नेता के सी त्यागी ने कहा कि उन्हें अपनी पार्टी के नेता शहाबुद्दीन के कार्य क्षेत्र सीवान से यात्रा शुरू करनी चाहिए थी। ऐसा करने पर उन्हें ज्यादा जन समर्थन मिलता।
– गांधी जी ने चम्पारण यात्रा सत्य और अहिंसा के सिद्धांत के साथ की थी। तेजस्वी पर भ्रष्टाचार के कई आरोप लगे हैं। उन्हें कई जांच एजेंसियों को जवाब देना है। इस तरह की यात्रा के कुछ होने वाला नहीं है। जनता सब जानती है। तेजस्वी को कोई जन समर्थन नहीं है।
– ये लोग बीजेपी नेता सुशील मोदी से इसलिए खफा हैं कि उनके चलते ही लालू परिवार की बेनामी संपत्ति का मामला उजागर हुआ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *