बीजेपी MLA ने कहा-हेल्मेट लगाने से बाल झड़ जाते हैं, बर्ताव भी होता है खराब

कोटा (राजस्थान). कोटा रेंज पुलिस की ओर से हेल्मेट को लेकर आयोजित वर्कशॉप में बीजेपी विधायक भवानी सिंह राजावत ने विवादित बयान दे दिया। भवानी ने वर्कशॉप में हेल्मेट का ही जमकर विरोध कर दिया। भवानी ने कहा, ‘मैं हेल्मेट का घोर विरोधी हूं। हेल्मेट लगाने के फायदे कम नुकसान ज्यादा हैं। इससे बाल झड़ जाते हैं और व्यवहार भी खराब होता है।’ इस मौके पर मौजूद पुलिस अफसर भवानी सिंह के बोलने से पहले हेल्मेट के पक्ष में दलीलें दे रहे थे। जैसे ही भवानी ने यह बात कही, सब बंगले झांकने लगे।

किसने हेल्मेट जरूरी किया?

भवानी राजावत ने वर्कशॉप में कहा, ‘जाने कौन सी सरकारों और अधिकारियों ने एसी कमरों में बैठकर हेल्मेट की अनिवार्यता को लागू किया। पुलिस चोरी, चेन स्नैचिंग, लूट की वारदातें तो खोल नहीं पाती, हेल्मेट पर सेमिनार कर रही है। हेल्मेट की बजाय इन विषयों पर सेमिनार हो तो ज्यादा सार्थक रहेगी।’ इसके बाद भी जब कार्यशाला में मौजूद लोगों ने हेल्मेट को आवश्यक बताया तो राजावत कार्यशाला छोड़कर चले गए। इसके बाद कोटा एसपी डॉ. अमनदीप सिंह कपूर, एमबीएस अधीक्षक वरिष्ठ न्यूरो सर्जन डॉ. विजय सरदाना, डिविजनल कमिश्नर ओंकार सिंह सभी ने हेल्मेट लगाने की सलाह दी।

हेल्मेट की तुलना देवताओं से करने का विरोध भी किया

कार्यशाला में सेंटर फॉर रोड सेफ्टी की कोऑर्डिनेटर प्रेरणा सिंह ने कहा था कि चालान के डर से नहीं बल्कि हेलमेट लगाना आदत होनी चाहिए। देवता कहीं भी मुकुट लगाकर जाते थे। इसका प्रेरणा सिंह ने एनिमेशन वीडियो भी दिखाया। राजावत ने इसका भी विरोध किया। उन्होंने कहा, ‘हेल्मेट की तुलना देवताओं के मुकुट से करना गलत है।’