बुरे हाल में आमिर की पीपली लाइव का नत्था!

tatpar 15 july 2013

भोपाल। फिल्म पीपली लाइव में अपने शानदार अनुभव से सभी का दिल जीतने वाले नत्था (ओमकार दास माणिकपुरी)इन दिनों भुखमरी से परेशान हैं। उनके पास खाने के लिए दो वक्त की रोटी तक नहीं है, न ही अपने परिवार को पालने के लिए कोई रोजगार का साधन है। इन दिनों वे अपनी पत्नी के साथ जंगल में मजदूरी कर रहे हैं।
यहां तक कि उनकी जमीन और घर पर गांव के जमीनदार के पास गिरवी पड़ा है। दिनभर मजदूरी करने के बाद नत्था अपने परिवार के लिए बमुश्किल दो वक्त की रोटी जुटा पा रहा है। इसके साथ ही समाज और गांव के कुछ लोग ऐसे भी हैं, जो उसके परिवार की खुशियों पर नजर जमाए बैठे हैं। अपने संघर्ष के इन दिनों में नत्था का साथ निभा रही हैं उनकी पत्नी।

भोपाली बाला संग इश्क करते दिखेंगे नत्थाः अस्त-व्यस्त घर और संघर्षमयी जीवन ये नत्था की रियल नहीं, बल्कि रील लाइफ स्टोरी है। जी हां अपनी अगली फिल्म जंगल में नत्था भोपाली बाला योगिता कशिश यादव के साथ न सिर्फ अपने अधिकारों के लिए लड़ते दिखाई देंगे, बल्कि पर्दे पर इश्क करते भी नजर आएंगे।

एक शानदार रंगकर्मी माने जाने वाले नत्था ने बी-टाउन में अपना करियर आमिर खान की फिल्म पीपली लाइव से की थी। इसके बाद से वे किसी भी बड़े बैनर में दिखाई नहीं दिए। दरअसल वे इन दिनों अपने कुछ क्षेत्रीय प्रोजेक्ट और फिल्मों में व्यस्त है, इसलिए सिल्वर स्क्रीन से दूर है।

फिल्म से कुछ दिनों का ब्रेक लेकर भोपाल आई योगिता ने बताया कि फिल्म आधी से ज्यादा बन चुकी है, बस कुछ अहम दृश्य ही फिल्माए जाने है। ये दृश्य बारिश और ठंड पर आधारित है जिनके लिए लोकेशन भी तलाश ली गई है। जल्द ही बाकी की शूटिंग भी पूरी कर ली जाएगी।

पेड़ और पोता दोनों साथ-साथ बड़े हुए: फिल्म में खेतों और जंगलों के कई सारे अलग-अलग दृश्य है। ये पेड़ नत्था के परिवार के लिए बहुत खास इसलिए है क्योंकि ये नत्था के पिता ने अपने पोते के जन्म पर लगाए थे।

पूरा परिवार लड़ेगा हक की लड़ाईः पोते के साथ-साथ पेड़ भी बड़ा होता गया और नत्था के परिवार का उससे लगाव भी बढ़ता गया। पूरा परिवार उस पेड़ का घर के सदस्य की तरह ख्याल रखने लगे, ऐसे में कोई यदि उसे नुकसान पहुंचाने की बात करता तो नत्था का पूरा परिवार उनसे लड़ पड़ता है।

ग्रामीण परिवेश पर आधारित है फिल्म: फिल्म की शूटिंग छत्तीसगढ़ स्थित भोरमदेव के एक आदिवासी गांव में हो रही है, जहां नत्था, उनकी पत्नी मोगरा और उनका पूरा परिवार पर्यावरण को बचाने के लिए लड़ते नजर आएगा। जल, जंगल और जमीन पर आधारित ये फिल्म इस साल के अंत तक आपके सामने होगी।