बुलंदशहर हिंसा: इंस्पेक्टर सुबोध सिंह हत्याकांड में चार लोग गिरफ्तार, योगेश राज की तलाश जारी

गोवंश मिलने के बाद बुलंदशहर में भड़की हिंसा में इंस्पेक्टर स्याना सुबोध कुमार सिंह तथा एक युवक सुमित की हत्या के मामले में पुलिस ने चार लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके अलावा चार से पांच लोगों को हिरासत में लिया गया है। इस प्रकरण को लेकर सीएम योगी आदित्यनाथ के बेहद गंभीर होने के कारण जांच अधिकारी एडीजी इंटेलिजेंस एसवी शिरोडकर मौके पर पहुंचे हैं। उन्होंने जांच शुरू कर दी है।

बुलंदशहर में हिंसा के दौरान स्याना इंस्पेक्टर सुबोध कुमार सिंह की हत्या के मामले में स्याना कोतवाली में उपनिरीक्षक सुभाष सिंह ने रिपोर्ट दर्ज कराई। इसमें बजरंग दल के जिला संयोजक योगेश राज, भाजपा युवा स्याना के नगराध्यक्ष शिखर अग्रवाल, विहिप कार्यकर्ता उपेंद्र राघव को भी नामजद किया गया। हालांकि, तीनों की अभी गिरफ्तारी नहीं हुई है। एडीजी आनंद कुमार ने प्रेस वार्ता में इस बात की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि मामले में चमन, देवेंद्र, आशीष और सतीश को गिरफ्तार किया गया है। इस प्रकरण में 88 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, जिसमें 27 लोग नामजद हैं।

बुलंदशहर हिंसा को लेकर पुलिस ने कल रात से ही ताबड़तोड़ छापा मारना शुरू कर दिया था। इसमें तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने रातभर महाव और चिंगरावठी गांव में छापेमारी की। पुलिस चश्मदीदों और सामने आई वीडियो-तस्वीरों के आधार पर छापेमारी कर रही है। महाव और चिंगरावठी, दोनों ही गांव घटनास्थल के नजदीक के गांव हैं। माना जा रहा है कि 400-500 लोगों की भीड़ इन्हीं गांवों से आई थी। पुलिस की छह टीमों ने 22 ठिकानों पर छापेमारी की थी। इसके साथ ही आसपास के जिलों में पुलिस की टीमें दबिश दे रही हैं।

बुलंदशहर की इस घटना के बाद से ही गर्माते माहौल को देखते हुए सुरक्षा व्यवस्था को पुख्ता किया गया है। यहां पर आरएएफ की पांच कंपनियां तैनात की गई हैं। यहां आने वाले हर वाहन की जांच की जा रही है, ताकि किसी और तरह से माहौल खराब ना हो पाए। बुलंदशहर हिंसा की जांच करने के लिए एसआईटी का गठन किया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *