भारत ने कहा- पाकिस्तान के साथ बातचीत के लिए नई तारीख का एलान जल्द

इस्लामाबाद/नई दिल्ली. भारत ने कहा है कि पाकिस्तान के साथ फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत के लिए जल्द ही नई तारीख का एलान किया जाएगा। विदेश मंत्रालय के स्पोक्सपर्सन विकास स्वरूप ने कहा है कि जैश-ए-मोहम्मद के मेंबर्स पर हुई कार्रवाई का भारत स्वागत करता है।
फॉरेन मिनिस्ट्री ने और क्या कहा…
– पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए स्वरूप ने डिप्लोमेसी के लिहाज से एक अनयूजुअल मुहावरे का इस्तेमाल किया।
– उन्होंने कहा, ‘जब मियां बीवी राजी तो क्या करेगा काजी।’
– स्वरूप ने कहा- दोनों देशों के फॉरेन सेक्रेटरी के बीच बातचीत हुई है। दोनों बातचीत टालने पर राजी हुए।
– भारत-पाकिस्तान के एनएसए के बीच बीते दो दिनों में कोई मुलाकात नहीं हुई है।
– हमें मौलाना मसूद अजहर की गिरफ्तारी को लेकर कोई जानकारी नहीं मिली है।
– पाकिस्तान की एसआईटी टीम का भारत में स्वागत है। हमें उन्हें पूरी हेल्प करेंगे।
जरूरत हुई तो पाकिस्तान को और सबूत देंगे।
इससे पहले पाकिस्तान ने कहा था, कल नहीं होगी बातचीत
– पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय ने कहा है कि भारत के साथ 15 जनवरी को होने वाली फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत नहीं होगी।
– पाकिस्तान फॉरेन ऑफिस के स्पोक्समैन काजी खलीउल्लाह ने गुरुवार को यह भी कहा है कि नई तारीख के एलान के लिए भारत से बातचीत की जा रही है।
बातचीत के लिए भारत ने पाकिस्तान से क्या कहा था?
– हाल के दिनों में भारत ने यह साफ कर दिया था कि बातचीत हो, इसके लिए यह जरूरी है कि पाकिस्तान 2 जनवरी को हुए पठानकोट हमले की साजिश रचने वालों पर एक्शन ले।
– उस हमले में सात जवान शहीद हो गए थे और 22 जख्मी हुए थे।
सुषमा स्वराज के दौरे के बाद तय हुआ था दोनों देश बात करेंगे
– दिसंबर में पाकिस्तान के दौरे पर गईं विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने एलान किया था कि दोनों देशों के बीच सभी मुद्दों पर कॉम्प्रिहेंसिव बायलैटरल डायलॉग (समग्र बातचीत) का सिलसिला फिर से शुरू होगा। 2008 के मुंबई हमलों के बाद यह बातचीत थम गई थी।
– सुषमा ने पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ के विदेश मामलों के एडवाइजर सरताज अजीज से मुलाकात के बाद साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी। इसमें उन्होंने कहा कि दोनों देशों के फॉरेन सेक्रेटरीज मिलकर बातचीत का रोडमैप तैयार करेंगे। इसमें यह तय होगा कि बातचीत कब और किन-किन स्तरों पर होगी।
क्या है कॉम्प्रिहेंसिव बायलैटरल डायलॉग?
– इसके तहत भारत-पाकिस्तान के बीच आतंकवाद, कारोबार, सर क्रीक, कश्मीर समेत तमाम मुद्दों पर बीच कई लेवल पर बातचीत होनी तय हुई थी।
– सुषमा ने इसे कॉम्प्रिहेंसिव बायलैटरल डायलॉग नाम दिया था।
– उनके मुताबिक पहले इसे कंपोजिट डालयॉग और 2008 के बाद रिज्यूम्ड डायलॉग कहा जाता था।
– 1998 में कंपोजिट डायलॉग का सिलसिला शुरू हुआ था जो 2008 में मुंबई हमले के बाद थम गया था।

मोदी के पाकिस्तान दौरे के बाद पाकिस्तान ने किया था 15 जनवरी की तारीख का एलान

– 25 दिसंबर को अफगानिस्तान से लौटते समय नरेंद्र मोदी पाकिस्तान में कुछ घंटों के लिए रुके थे।
– मोदी शरीफ के पुश्तैनी घर भी गए थे। दोनों नेताओं की मुलाकात के बाद पाकिस्तान ने बयान भी जारी किया था। बयान में कहा गया था:
1. पाकिस्तान के विदेश सचिव एजाज चौधरी के मुताबिक, ”दोनों मुल्कों में बातचीत आगे बढ़ाई जाएगी, ताकि रिश्ते नॉर्मल हो सकें।”
2. ”पीपुल-टु-पीपुल कॉन्टैक्ट बढ़ाए जाएं, ताकि पॉजिटिव माहौल पैदा हो सके।”
3. एजाज चौधरी ने कहा था कि भारत और पाकिस्तान के बीच फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत 15 जनवरी को इस्लामाबाद में होगी।
मोदी के पीएम बनने के बाद भारत-पाक के रिश्तों में कैसे आए उतार-चढ़ाव?
1. मई 2014 में मोदी ने की पहल
– मोदी ने प्रधानमंत्री पद के शपथ ग्रहण समारोह में पाकिस्तान के पीएम नवाज शरीफ को न्योता दिया।
– अगले दिन दोनों के बीच 20 मिनट बातचीत भी हुई।
– भारत अपना विदेश सचिव इस्लामाबाद भेजने को राजी हुआ।
2. पाकिस्तान ने अलगाववादियों को बुलाया
– अगस्त 2014 में भारत की तरफ से विदेश सचिव भेजे जाने से पहले ही पाकिस्तान हाई कमिश्नर ने दिल्ली में कश्मीरी अलगाववादियों से मुलाकात की।
– इसके बाद मोदी सरकार ने विदेश सचिव का दौरा रद्द कर दिया।
3. सार्क समिट में चुपके-चुपके हुई बात
– नवंबर 2014 में मोदी-नवाज नेपाल में हुई सार्क समिट में मौजूद थे। दोनों ने एक-दूसरे का अभिवादन किया।
– ऑफिशियल बातचीत तो नहीं हुई। लेकिन बताया जाता है कि दोनों के बीच सीक्रेट मीटिंग हुई थी।
4. रूस के उफा में हुई बातचीत
– जुलाई 2015 में रूस के उफा शहर में मोदी-नवाज के बीच बातचीत हुई।
– अगस्त 2015 में एनएसए लेवल की बातचीत शुरू करने पर आम राय बनी।
5. बात-बात पर बिगड़ी बात
– अगस्त में बातचीत होती, इससे पहले ही पाकिस्तान ने कश्मीर का मुद्दा उठा दिया।
– साथ ही अलगाववादियों से मुलाकात करने की शर्त भी रख दी।
– दोनों देशों के बीच तीखी बयानबाजी हुई।
– चार दिन के ड्रामे के बाद पाक एनएसए ने अपना भारत दौरा ही रद्द कर दिया।
6. क्लाइमेट चेंज समिट
– 30 नवंबर को पेरिस में क्लाइमेट चेंज समिट के दौरान मोदी-नवाज की मुलाकात हुई।
– दोनों के बीच करीब दो मिनट बात हुई थी।
7. बैकॉक में मिले थे दोनों देशों के एनएसए
– मोदी नवाज की पेरिस में हुई मुलाकात के बाद दोनों देशों के एनएसए थाईलैंड की राजधानी बैंकॉक में मिले थे।
– 7 दिसंबर को हुई इस मुलाकात में एनएसए अजीत डोभाल और नसीर जंजुआ के बीच कई मुद्दों पर चर्चा हुई थी।
8. सुषमा का पाकिस्तान दौरा
इसी महीने विदेश मंत्री सुषमा स्वराज इस्लामाबाद गई थीं।
– सुषमा ने एलान किया था कि दोनों देशों के बीच कम्पोजिट डायलॉग शुरू होगा।
– यह डायलॉग 2008 में मुंबई हमलों के बाद से रुका हुआ है।
9. पठानकोट हमले के बाद बातचीत खटाई में
– दोनों देशों के बीच फॉरेन सेक्रेटरी लेवल की बातचीत होनी थी। लेकिन जनवरी में हुए पठानकोट में आतंकी हमले के चलते यह टाल दी गई है।
– भारत का कहना है कि जब तक पाकिस्तान हमले की साजिश रचने वालों पर एक्शन नहीं लेता है तब तक बातचीत नहीं होगी