‘भारत माता की जय’ पर ओवैसी को करारा जवाब, अख्तर ने बताया- मोहल्ले का नेता

नई दिल्ली.जावेद अख्तर ने राज्यसभा में दिए आखिरी भाषण में एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी पर जमकर निशाना साधा। अख्तर ने ‘भारत माता की जय’ नहीं बोलने वाले बयान पर ओवैसी को हैदराबाद के एक मोहल्ले का नेता बताया। जावेद ने बीजेपी और मोदी सरकार को भी नसीहतें दीं। बता दें कि ओवैसी भारत माता की जय पर दिए बयान को लेकर सुर्खियो में हैं।
अख्तर बोले, वो खुद को नेशनल लीडर समझते हैं…
 क्या कहा इस मशहूर शायर ने राज्यसभा में?
 – एक नेता ने खुद को नेशनल लीडर समझ लिया है, जबकि वह हैदराबाद के एक मोहल्ले का नेता है।
– भारत माता की जय बोलने में हर्ज क्या है? यह हमारा फर्ज नहीं, बल्कि मौलिक अधिकार है।
– मैं बोलता हूं, भारत माता की जय। किसी ने मुझे रोका?
शेरवानी और टोपी वाली बात संविधान में कहां लिखी है?
 – जावेद ने ओवैसी ही नहींं, उन नेताओं को भी नसीहत दी जो भड़काउ बयान देते हैं।
– उन्होंने आगे ये बातें कहीं.. अगर संविधान में नहीं लिखा है भारत माता की जय बोलो, तो शेरवानी और टोपी पहनने की बात कहां लिखी है?
– मैं अपने दिल की बात रखने पर लोगों को पाकिस्तान भेजने वाले बयानों की निंदा करता हूं। सबकी बात सुनी जाए।
– हम ऐसा मुल्क चाहते हैं, जहां सबको बोलने की आजादी हो।
– विपक्ष को चाहिए सरकार के साथ मिलकर बिजली, पानी, सड़क और किसानों के विकास के लिए काम करें।
– जावेद अख्तर कुछ और भी बोलना चाहते थे, लेकिन स्पीकर ने उन्हें रोक दिया। मंगलवार को राज्यसभा के 17 मेंबर रिटायर हुए।
– 15 मिनट के भाषण में अख्तर ने कहा, “लोकतंत्र सेक्युलरिज्म के बिना संभव नहीं है। किसी खास कम्युनिटी को सपोर्ट ना करके हमें सेक्यूलरिज्म की रक्षा करनी चाहिए।
क्या कहा था ओवैसी ने?
 – रविवार को महाराष्ट्र के लातूर में ओवैसी ने एक सभा में कहा था कि मैं भारत माता की जय नहीं बोलूंगा।
– कोई मेरी गर्दन पर भी चाकू रख दे तब भी नहीं बोलूंगा। संविधान में कहीं नहीं लिखा कि भारत माता की जय बोलो।
– मंगलवार को यूपी की एक कोर्ट में ओवैसी के खिलाफ देशद्रोह की पीआईएल दाखिल की गई है। इसके बाद उन्होंने ‘जय हिंद’ कहा। – ओवैसी का ये बयान आरएसएस चीफ मोहन भागवत को जवाब माना जा रहा है। भागवत ने कहा था, ”अब नौजवानों को भारत माता की जय बोलना सिखाना पड़ता है।”