भारत साउथ एशिया में शांति पैदा होने के रास्ते में बड़ा रोड़ा

इस्लामाबाद. पाकिस्तान के राष्ट्रपति ममनून हुसैन ने कहा है कि भारत साउथ एशिया में शांति पैदा होने के रास्ते में बड़ा रोड़ा बन गया है। उन्होंने पार्लियामेंट के ज्वाइंट सेशन को एड्रेस करते हुए कश्मीर मसले को भारत-पाकिस्तान बंटवारे का ‘अनफिनिश्ड एजेंडा’ करार दिया।
विवाद की असल जड़ कश्मीर मुद्दा है…
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक ममनून हुसैन ने पार्लियामेंट के ज्वाइंट सेशन को गुरुवार को एड्रेस किया। इस दौरान उन्होंने कश्मीर मुद्दे और भारत-पाक के बीच तनाव से भरे बाइलैट्रल रिलेशन की चर्चा की।
– उन्होंने कहा कि भारत-पाक के बीच विवाद की असली जड़ कश्मीर मुद्दा है जो उपमहाद्वीप (subcontinent) के बंटवारे का अनफिनिश्ड एजेंडा है।
कश्मीरी अपने हक के लिए लड़ रहे हैं
– ममनून हुसैन ने कहा, “हमारे कश्मीरी भाई, बहन, उनके बेटे-बेटियां आजादी का अपना मौलिक अधिकार हासिल करने के लिए प्रोटेस्ट कर रहे हैं और इस दौरान उन पर निर्मम अत्याचार किया जा रहा है।”
– “कश्मीर विवाद का सिर्फ यही हल है कि वहां यूएन रिजोल्यूशंस के तहत जनमत संग्रह (plebiscite) कराया जाए।”
भारत आतंकियों, जासूसों को पाक में भेज रहा
– राष्ट्रपति ममनून ने यह भी कहा, “पाकिस्तान की शांति की कोशिशों का पॉजिटिव रिस्पॉन्स देने के बजाय भारत कुलभूषण जाधव जैसे जासूसों और आतंकियों को देश में भेज रहा है। पाकिस्तान बातचीत के जरिये सभी समस्याओं को खत्म करना चाहता है, लेकिन भारत कोई जवाब नहीं दे रहा है।”
– बता दें कि पाक मिलिट्री ने जाधव को जासूसी और देश विरोधी गतिविधियों के आरोप में फांसी की सजा सुनाई है। हालांकि इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस ने आखिरी फैसले तक फिलहाल इस पर रोक लगा दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *