भीम के परिवारवालों को दिया भरोसा, दिल्ली आओ, सरकारी नौकरी दूंगा: केजरीवाल

अबोहर ।आप के संयोजक व दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को दलित भीम टांक के परिजनों से मुलाकात की। केजरीवाल ने परिवार को अपना पर्सनल मोबाइल नंबर देने के बाद परिवार में से एक सदस्य को दिल्ली में नौकरी का एलान किया। उन्होंने कहा कि आप दिल्ली आओ, सरकारी नौकरी दिलवा दूंगा।
 पंजाब में आप की सरकार बनते ही भीम हत्याकांड की फाइल को दोबारा ओपन करवाएंगे। परिवार का दर्द सुनने के बाद केजरीवाल बोले अगर कोई समस्या आए तो मेरे को मोबाइल कर लेना। केजरीवाल ने गुरजंट के अगले इलाज को दिल्ली के प्रमुख अस्पताल में कराने का भी वायदा किया। अरविंद केजरीवाल शुक्रवार को अपने पांच दिवसीय पंजाब दौरे के दौरान भीम के परिजनों से मिलने के लिए आए हुए थे। यहां वो करीब 45 मिनट रुके और एक कप चाय पीने के बाद निकल गए। केजरीवाल ने परिवार की मांगों को सुनते हुए दिल्ली में नौकरी का एलान तो कर दिया लेकिन मुआवजा देने के लिए मना कर दिया।
 आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल के लिए पंजाब दौरे का दूसरा दिन चुनौतियों भरा रहा। अबोहर में भीम हत्याकांड के पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे तो पता चला कि एक रात पहले ही सत्तापक्ष के नेताओं ने पीछे हटने का दबाव बनाया। दूषित पानी से प्रभावित फाजिल्का के गांव तेजा रहेला बीमारों का हाल जानने पहुंचे तो खुद सेहत मंत्री ने तीन दिनों में दूसरा हेल्थ चैकअप कैंप लगवा दिया।
 केजरीवाल डिप्टी सीएम के हलका जलालाबाद के गांव पाकां, जहांं फसल खराब होने से सर्वाधिक आत्महत्याएं हुईं, पहुंचे तो तीन में से दो परिवार गायब मिले, पूछने पर पता चला मुआवजा लेने गए हैं। जब केजरीवाल मोगा में नशा प्रभावित गांव राउंके कलां पहुंचे तो शगुन स्कीम के चैक बांटने का कार्यक्रम रख लिया गया। कुल मिलाकर जहां भी केजरीवाल गए सभी जगह सरकार ने सेल्फ डिफेंस की तैयारी पहले ही कर रखी थी। यही नहीं अबोहर में केजरीवाल के खिलाफ एक साल दिल्ली बेहाल के पोस्टर हर दीवार पर देखे गए तो गांव पाकां और तेजा रहेला में शिअद और कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने केजरीवाल गो बैक के नारे लगाकर विरोध किया। इस सब के बावजूद केजरीवाल प्रभावी ढंग से अपनी सभाएं करने में कामयाब रहे।
 दूषित पानी से 20 से ज्यादा परिवारों के विकलांग हो चुके बच्चों के गांव तेज रहेला में जाकर उन्होंने दिल्ली की तर्ज पर फ्री इलाज का वादा किया। 34 किसानों की आत्महत्या करने वाले गांव पाकां में गए तो यहां पंजाब में सरकार आने पर दिल्ली की तर्ज पर मृतकों के परिवारों को 20 हजार रुपए हेक्टेयर मुआवजा देने का वादा किया। कुल मिलाकर स्ट्रेटजी और निशाना पहले से तय था जिसकी ग्राउंड रियलटी एक माह पहले ही ली जा चुकी थी।
भीम के कटे हुए हाथ-पांव वाली फोटो जब भरत शास्त्री ने केजरीवाल को दिखाई तो भीम की मां कौशल्या देवी फूट-फूट कर रोने लगी। केजरीवाल ने एक मां का दर्द समझा और उन्हें भरोसा दिलाया कि सरकार आते ही सभी को सख्त से सख्त सजा दिलाई जाएगी।
गो बैक नारा लगाने पर समर्थकों ने सिर फोड़ा
केजरीवाल जब गांव पाकां में ट्रैक्टर ट्राॅली पर चढ़कर दिल्ली में किए गए काम जनता को गिनवाने लगे तो लोगों की भीड़ में बैठे एक युवक ने उन्हें बीच में ही टोक दिया। जब केजरीवाल ने भाषण रोका तो युवक ने अपने समर्थकों के साथ केजरीवाल गो बैक और वीआईपी कल्चर के बैनर लहराने शुरू कर दिए। इस पर आप समर्थकों ने उन्हें धक्के मारकर यहां से बाहर निकाल दिय। इसी दौरान एक समर्थक ने ईंट मारकर कांग्रेसी कार्यकर्ता हैरी मान का सिर फोड़ दिया।
भीमकांड सुन कर रो पड़े भाजपा सचिव रिणवा
भीम टांक के घर में भाजपा सचिव संदीप रिणवा भी थे। उन्होंने केजरीवाल का स्वागत किया फिर उनके काम की तारीफ की। बैठते ही केजरीवाल को भीम कत्लकांड की जानकारी दी। रिणवा ने बताया, अकाली दल के हलका इंचार्ज शिव लाल डोडा ने यह कांड करवाया है, पुलिस तो उनका नाम ही एफआईआर में शामिल नहीं कर रही थी। संघर्ष के बाद केस दर्ज करवाया। इतना कहकर रिणवा फफ्क-फफ्ककर रो पड़े। केजरीवाल उठकर कमरे में भीम की मां से दुख बांटने चले गए।