मध्यप्रदेश में निजी विवि की स्थापना के लिये प्रतिष्ठित संस्थाओं का आव्हान

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने मध्यप्रदेश में निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना के लिये प्रतिष्ठित शैक्षणिक संस्थाओं से आगे आने का आव्हान किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के विस्तार के लिये निजी विश्वविद्यालयों की स्थापना समय की जरूरत है।

मुख्यमंत्री श्री चौहान आज इंदौर में डेली कॉलेज के वार्षिक पुरस्कार वितरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। इस अवसर पर डेली कॉलेज के बोर्ड ऑफ गवर्नेंस के अध्यक्ष श्री तुकोजीराव पंवार तथा प्राचार्य श्री सुमेर सिंह भी मौजूद थे। समारोह में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने विभिन्न क्षेत्रों में ख्याति प्राप्त ओल्ड डेलियन्स का सम्मान किया और विद्यालय के प्रतिभावान विद्यार्थियों को भी पुरस्कार दिये। श्री चौहान ने कहा कि प्रतिभाओं को आगे आने का अवसर मिलना चाहिये। उन्हें अवसर देने के लिये राज्य शासन हर स्तर पर सहयोग मुहैया करा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में इनोवेटिव आइडिया के साथ काम करने वाले उद्यमियों को आर्थिक सहयोग देने के लिये मध्यप्रदेश में 100 करोड़ का वेंचर केपिटल फण्ड बनाया जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारा भारत राष्ट्र प्राचीन राष्ट्र है। हमारे देश में नालंदा एवं तक्षशिला जैसी प्राचीन शैक्षणिक संस्थाएँ भी हैं, जिन्होंने पूरी दुनिया में भारत का नाम उँचा किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि भारत के सिद्धांत, ज्ञान-विज्ञान को अब दुनिया की स्वीकारोक्ति मिलने लगी है। हाल ही में संयुक्त राष्ट्र संघ ने भारत के योग की महत्ता को समझकर 21 जून को विश्व योग दिवस मनाने का निर्णय लिया है। योग दिवस मनाने के निर्णय को 177 देश ने स्वीकृति दी है।