महाराष्ट्र के CM उद्धव ठाकरे पहुंचे अयोध्या, बोले- राम मंदिर के लिए देंगे एक करोड़ रुपये

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी सरकार के सौ दिन का कार्यकाल पूरा होने पर शनिवार को रामनगरी अयोध्‍या पहुंचे। इस दौरान उन्‍होंने मीडिया से बातचीत कर कहा कि महाराष्ट्र के श्रद्धालुओं के लिए भी अयोध्या में महाराष्ट्र सरकार भवन बनवाएगी। इसके लिए उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से भूमि उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। साथ ही उन्‍होंने राम मंदिर के लिए अपनी ओर से एक करोड़ रुपये देने का एलान भी किया। 

पत्‍नी और बेटे के साथ करेंगे रामलला के दर्शन 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी पत्नी तथा सामना की संपादक रश्मि ठाकरे और बेटे आदित्य ठाकरे के साथ रामलला के दर्शन करेंगे। वह लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर विशेष विमान से उतरने के बाद करीब 1:15 बजे सड़क मार्ग से रामनगरी अयोध्या पहुंचे। वह बाईपास स्थित पंचशील होटल में रुके। दो घंटा आराम करने के बाद रामलला का दर्शन करेंगे। उद्धव ठाकरे सरकार के मंत्री व 40 विधायक, 20 सांसद भी रामलला का दर्शन करेंगे। उनका दर्शन का समय सायं 4:30 बजे प्रस्तावित है। उद्धव ठाकरे के शनिवार को आगमन से उनका और उनकी पार्टी का रामनगरी से सरोकार परिभाषित होगा। रामनगरी से शिवसेना का रिश्ता 1992 से ढांचा ध्वंस के साथ सुर्खियों में था।

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी सरकार के सौ दिन का कार्यकाल पूरा होने पर शनिवार को रामनगरी अयोध्‍या पहुंचे। इस दौरान उन्‍होंने मीडिया से बातचीत कर कहा कि महाराष्ट्र के श्रद्धालुओं के लिए भी अयोध्या में महाराष्ट्र सरकार भवन बनवाएगी। इसके लिए उन्‍होंने उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से भूमि उपलब्ध कराने का अनुरोध किया। साथ ही उन्‍होंने राम मंदिर के लिए अपनी ओर से एक करोड़ रुपये देने का एलान भी किया। 

पत्‍नी और बेटे के साथ करेंगे रामलला के दर्शन 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री तथा शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे अपनी पत्नी तथा सामना की संपादक रश्मि ठाकरे और बेटे आदित्य ठाकरे के साथ रामलला के दर्शन करेंगे। वह लखनऊ के अमौसी एयरपोर्ट पर विशेष विमान से उतरने के बाद करीब 1:15 बजे सड़क मार्ग से रामनगरी अयोध्या पहुंचे। वह बाईपास स्थित पंचशील होटल में रुके। दो घंटा आराम करने के बाद रामलला का दर्शन करेंगे। उद्धव ठाकरे सरकार के मंत्री व 40 विधायक, 20 सांसद भी रामलला का दर्शन करेंगे। उनका दर्शन का समय सायं 4:30 बजे प्रस्तावित है। उद्धव ठाकरे के शनिवार को आगमन से उनका और उनकी पार्टी का रामनगरी से सरोकार परिभाषित होगा। रामनगरी से शिवसेना का रिश्ता 1992 से ढांचा ध्वंस के साथ सुर्खियों में था।

इस दौरान उनके साथ पार्टी के करीब 20 सांसद, महाराष्ट्र में शिवसेना कोटे के मंत्री एवं विधायक तथा बड़ी संख्या में पार्टी समर्थक भी रामलला का दर्शन करेंगे। शिवसैनिकों को लेकर विशेष ट्रेन भी शुक्रवार को देर शाम फैजाबाद रेलवे स्टेशन पहुंची। सीएम उद्धव ठाकरे अयोध्या दौरे में सरयू आरती नहीं करेंगे। उद्धव ठाकरे के अयोध्या पहुंचने से पहले शिवसेना की गतिविधियां तेज हो गई हैं।

शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे महाराष्ट्र का मुख्यमंत्री बनने के बाद पहली बार एवं बीते 15 महीने में तीसरी बार अयोध्या में रामलला का दर्शन करेंगे। शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे पहली बार 24 नवंबर 2018 को तथा दूसरी बार 16 जून 2019 को रामनगरी आए थे।  

हिंदू महासभा के जिला अध्यक्ष समेत कई नजरबंद 

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे का विरोध करने वाले संत महंत व हिंदू महासभा के जिला अध्यक्ष राकेश धर मिश्रा को उनके आवास पर ही नजरबंद किया गया है। आवास के बाहर पुलिस तैनात है। वहीं, हिंदू महासभा के ही महंत परशुराम दास भी नजरबंद किए गए हैं। उधर, तपस्वी छावनी के संत परमहंस को उनके आश्रम में नजरबंद किया गया है। इसके साथ ही हनुमानगढ़ी के महंत राजू दास को भी नजरबंद किया गया है। यह सभी महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे के दौरान विरोध कर रहे थे। इन्‍होंने काला झंडा दिखाने का ऐलान भी किया था।

हिंदू महासभा करेगी विरोध

हिंदू महासभा ने कार्यकर्ताओं और अन्य हिंदू संगठनों के साथ स्थानीय धर्माचार्यों और साधु संतों को 7 मार्च को दोपहर एक बजे ही होटल पंचशील पहुंचने का निर्देश जारी किया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के अयोध्या दौरे को लेकर अखिल भारतीय हिंदू महासभा विरोध में उतर आई है। उद्धव ठाकरे जिस पंचशील होटल में ठहरेगे उसी में बंधक बनाने का कार्यक्रम हिंदू महासभा ने बनाया है।हिंदू महासभा ने ठान लिया है कि उद्धव ठाकरे होटल से बाहर निकले तो उनको काला झंडा दिखाया जाएगा। राकेश दत्त मिश्र ने बताया कि हिंदू महासभा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रविन्द्र कुमार द्विवेदी के नेतृत्व में काला झंडा दिखा कर ‘उद्धव ठाकरे वापस जाओ’ का नारा लगा कर विरोध करेंगे।

विरोध का ऐलान करने वाले संत व हिंदूवादी नेता नजरबंद

महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के आगमन का विरोध करने की भी यहां तैयारी है। विरोध में लगे हिंदू महासभा के जिलाध्यक्ष राकेशधर मिश्र को ककरही बाजार स्थित उनके आवास में नजरबंद किया गया है, जबकि तपस्वी जी की छावनी के महंत परमहंसदास भी नजरबंद किए गए हैं। उनके आश्रम पर फोर्स बढ़ाई गई है। 



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *