मानसून सेशन में GST-नोटबंदी समेत 5 मुद्दों पर सरकार को घेरेंगी 18 विपक्षी पार्टियां

नई दिल्ली. संसद का मानसून सेशन 17 जुलाई से शुरू हो रहा है। इसमें 18 विपक्षी पार्टियां जीएसटी-नोटबंदी जैसे कई मुद्दों पर मोदी सरकार का घेरने की रणनीति तैयार कर रही हैं। जिन इश्यूज पर सरकार को घेरा जाएगा, इसको लेकर मंगलवार को इन दलों की मीटिंग हुई थी।
5 मुद्दों पर सरकार को घेरा जाएगा…
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक सूत्रों ने बताया कि 5 अहम मुद्दों पर सरकार को संसद में घेरा जाएगा। इसके लिए 18 विपक्षी दलों ने बाकायदा रणनीति तैयार की है।
– विपक्ष ने जिन 5 मुद्दों पर सरकार पर सवाल खड़े करने की तैयारी की है, उनमें नोटबंदी का लोगों पर बुरा असर, जीएसटी लागू करने में जल्दबाजी, किसानों की आत्महत्या, राजनीतिक साजिश, देश के संघीय ढांचे को बचाना और फेक न्यूज फैलाकर लोगों को भड़काना शामिल है।
नेताओं ने और क्या बताया?
– विपक्ष का आरोप है, “सरकार राजनीतिक साजिश कर रही है। तृणमूल कांग्रेस के नेताओं को नारदा स्कैम में फंसाया गया। वहीं पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदंबरम और उनके परिवार, लालू प्रसाद यादव के ठिकानों पर छापेमारी की गई।”
– बता दें कि मंगलवार को हुई अपोजिशन पार्टियों की मीटिंग में सोनिया-राहुल गांधी, तृणमूल नेता डेरेक ओ’ब्रायन, जेडीयू के शरद यादव, एनसीपी के प्रफुल्ल पटेल, सीपीएम के सीताराम येचुरी, नेशनल कॉन्फ्रेंस के उमर अब्दुल्ला, सपा नेता नरेश अग्रवाल, बीएसपी के सतीश मिश्रा और 10 अन्य पार्टियों के नेता शामिल हुए थे।
– डेरेक ने कहा, “पार्टियां इंडीविजुअली भी मुद्दों को उठाएंगी लेकिन कुछ मामलों पर 18 पार्टियां एकसाथ सरकार को घेरेंगी। हम (18 पार्टियां) एक टीम की तरह काम कर रहे हैं। इसमें किसी एक नेता के प्रमुख होने का सवाल ही नहीं उठता।”
नरेश अग्रवाल ने दिया सुझाव?
– सपा के नरेश अग्रवाल ने सुझाव दिया है कि अपोजिशन पार्टियों को महीने में कम से कम एक बार मुलाकात जरूर करनी चाहिए। ये मीटिंग केवल दिल्ली में ही नहीं दूसरे राज्यों में भी होनी चाहिए।
– अग्रवाल ने ये कहा कि वाइस प्रेसिडेंट पद के उम्मीदवार का चुनाव आपसी सहमति से तय किया जाए।
– जानकारी के मुताबिक, सोनिया की मंजूरी के बाद ओ’ब्रायन ने विपक्ष के वाइस प्रेसिडेंट कैंडिडेट के लिए गोपाल कृष्ण गांधी के नाम का प्रस्ताव दिया। इसके बाद कोई दूसरा नाम नहीं लाया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *