मायावती ने कहा- किसी भी राज्य में कांग्रेस के साथ गठबंधन नहीं करेंगे

  • उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड और मध्यप्रदेश में बसपा और सपा के बीच हुआ है गठबंधन

लखनऊ. आगाामी लोकसभा चुनाव में बसपा कांग्रेस के साथ किसी भी राज्य में गठबंधन नहीं करेगी। बसपा सुप्रीमो मायावती ने मंगलवार को कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर चल रही अटकलों पर विराम लगा दिया। उन्होंने कहा, ”एक बार फिर से यह स्पष्ट कर दूं कि बसपा किसी भी राज्य में कांग्रेस से गठबंधन नहीं करेगी।”

मायावती ने कहा, ”उप्र, उत्तराखंड और मध्यप्रदेश में बसपा और सपा के बीच गठबंधन हुआ है। जबकि हरियाणा और पंजाब में राज्य की स्थानीय पार्टी के साथ बात लगभग तय है। बसपा से चुनावी गठबंधन के लिए कई पार्टियां तैयार हैं, लेकिन चुनावी लाभ के लिए हमें ऐसा कोई काम नहीं करना है जो बसपा के हित में न हो।

अटकलों पर लगा विराम

उत्तरप्रदेश, मध्यप्रदेश और उत्तराखंड में सपा-बसपा का गठबंधन होने के बाद यह चर्चाएं थीं कि एनडीए के खिलाफ बसपा कुछ और राज्यों में कांग्रेस के साथ गठबंधन कर सकती है। खासकर मध्यप्रदेश, राजस्थान और बिहार में। लेकिन मायावती ने ऐसी अटकलों को सिरे से खारिज कर दिया।

यूपी में 37-38 सीटों पर सपा-बसपा का गठबंधन
लोकसभा चुनाव 2019 के लिए उप्र में बसपा ने सपा के साथ 37-38 सीटों पर गठबंधन किया। सपा-बसपा के इस गठबंधन में रालोद को तीन सीटें मथुरा, मुजफ्फरनगर और बागपत मिली हैं। जबकि इस गठबंधन ने दो सीटों रायबरेली और अमेठी में गठबंधन प्रत्याशी न उतारने की बात कही है। रायबरेली से कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी और अमेठी से राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी चुनावी मैदान में उतरेंगे।

मध्यप्रदेश में 26 सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी बसपा

मध्यप्रदेश की 3 सीटों पर सपा अपने प्रत्याशी उतारेगी, बाकी 26 सीटों पर बसपा चुनाव लड़ेगी। उत्तराखंड की 5 सीटों में सिर्फ एक सीट पौड़ी गढ़वाल पर सपा लड़ेगी, जबकि 4 सीटें बसपा के खाते में गईं हैं। मध्यप्रदेश की जिन 3 सीटों पर सपा लड़ेगी, उनमें खजुराहो, टीकमगढ़ और बालाघाट शामिल है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *