मायावती ने कहा- रोहित वेमुला को सुसाइड के लिए उकसाया गया था

नई दिल्ली. संसद के बजट सेशन के दूसरे दिन राज्यसभा में हंगामा हो गया। बीएसपी चीफ मायावती ने हैदराबाद यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट रोहित वेमुला के सुसाइड का मुद्दा उठाया। इसके बाद कई मेंबर्स नारेबाजी करते हुए वेल में आ गए। उधर, लोकसभा में कांग्रेस जेएनयू विवाद पर बाद में चर्चा के लिए तैयार हो गई।
प्रश्नकाल के दौरान क्या हुआ…
 11: 18 AM : हंगामा थमते न देख राज्यसभा के उपसभापति पीजी कुरियन ने 10 मिनट के लिए कार्यवाही स्थगित की।
11:15 AM : मायावती ने कहा चर्चा तो हम करेंगे लेकिन सरकार पहले इसका जवाब दे।
11:13 AM : संसदीय कार्य राज्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा सरकार को रोहित के सुसाइड मुद्दे पर चर्चा से आपत्ति नहीं है। सदन चाहे तो अभी चर्चा शुरू हो सकती है।
11:11 AM : राज्यसभा में बीएसपी चीफ मायावती ने कहा कि हैदराबाद यूनिवर्सिटी के स्टूडेंट रोहित वेमुला को सुसाइड के लिए उकसाया गया था।
11:02 AM : संसदीय कार्य मंत्री एम वेंकैया नायडू ने लोकसभा में कहा कि सरकार हर मुद्दे पर चर्चा को राजी है। कृपया प्रश्नकाल होने दें।
11:00 AM : लोकसभा में कांग्रेस के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि हम देश के अहम मुद्दों पर चर्चा चाहते हैं।
10:45 AM : जेएनयू मुद्दे पर बुधवार को संसद परिसर में हंगामा हो गया। बजट सेशन के दूसरे दिन की कार्यवाही से पहले लेफ्ट-जेडीयू के राज्यसभा मेंबर्स ने सरकार के खिलाफ नारेबाजी की।
10:35 AM : पीएम मोदी ने सीनियर कैबिनेट मिनिस्टर के साथ मीटिंग की।
– कांग्रेस लीडर मल्लिकार्जुन खड़गे ने इन मुद्दों पर लोकसभा में बहस करने के लिए स्थगन प्रस्ताव का नोटिस दिया है।
– राज्यसभा में जाट आंदोलन, जेएनयू देश विरोधी नारेबाजी और रोहित वेमुला सुसाइड मामले पर दोपहर 2 बजे बहस को शेडयूल किया गया है।
– बीजेपी सांसद भूपेंद यादव ने मंगलवार को ही राज्यसभा में जेएनयू विवाद और डेविड हेडली की मुंबई की स्पेशल कोर्ट में चल रही सुनवाई पर चर्चा के लिए नोटिस दिया।
– बता दें कि पार्लियामेंट का बजट सेशन मंगलवार से शुरू हो गया। पहले दिन प्रेसिडेंट ने दोनों सदनों के ज्वाइंट सेशन में स्पीच दी।
सामने आनी चाहिए हमारी कमियां : PM
 – मंगलवार को संसद पहुंचे पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा, ”औपचारिकता से ऊपर उठकर विचार-विमर्श करना होगा। हमें सार्थक चर्चा करने का एक अवसर मिला है।”
– ” इस सत्र में देश के नागरिकों की चिंताओं पर गहन चिंतन होगा। आज से शुरू हो रहे सेशन में उसका आभास देशवासियों को जरूर होगा।सरकार की कमियां उजागर होनी चाहिए।”
16 मार्च तक चलेगा पहला चरण
 – सेशन दो फेज में होगा। पहला -23 फरवरी से 16 मार्च और दूसरा- 25 अप्रैल से 13 मई तक।
– 25 फरवरी को रेल बजट, 26 फरवरी को इकोनॉमिक सर्वे और 29 फरवरी को आम बजट पेश किया जाएगा।
संसद में फंसे है ये अहम बिल
 – बजट सेशन में 32 बिल लाए जाने हैं।
– जीएसटी बिल, व्हिसल ब्लोअर्स प्रोटेक्शन बिल (संशोधित) और इंडस्ट्रीज (डेवलपमेंट एंड रेग्युलेशन) संशोधन बिल मुख्य हैं।
– इसके अलावा कंज्यूमर प्रोटेक्शन बिल, इनसॉल्वेंसी एंड बैंकरप्सी कोड, बेनामी ट्रांजैक्शन्स (संशोधित) बिल, लैंड एक्विजिशन बिल और प्रिवेंशन ऑफ करप्शन (संशोधित) बिल जैसे अहम बिल संसद में अटके हुए हैं।
संसद को चलाने के लिए कोशिशें
– लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने सोमवार को सदन का कामकाज सुचारू तरीके से चलाने पर चर्चा के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई थी।
– इसके अलावा, पार्लियामेंट अफेयर मिनिस्टर वेंकैया नायडू ने भी अलग से सर्वदलीय बैठक बुलाई।
– इससे पहले, शनिवार को राज्यसभा के सभापति मोहम्मद हामिद अंसारी ने भी विभिन्न दलों के साथ शनिवार को मीटिंग की थी।
– पीएम मोदी भी 16 फरवरी को अपोजिशन लीडर्स के साथ मीटिंग कर चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *