मुस्लिम हिंसा छोड़ें और आतंकवाद से लड़ने में मदद करें: रमजान पर बोले ट्रम्प

वॉशिंगटन. डोनाल्ड ट्रम्प ने दुनियाभर के मुस्लिमों को रमजान की मुबारकबाद दी है। साथ ही कहा, “मुस्लिमों को हिंसा का रास्ता छोड़ना चाहिए और दुनिया से आतंकवाद के खात्मे के लिए मदद करनी चाहिए।”
रमजान हिंसा रोकने की सीख देता है…
– अपने पहले रमजान मैसेज में ट्रम्प ने कहा, “रमजान हमें यही सीख देता है कि हिंसा खत्म की जाए और शांति स्थापित की जाए। हमें उनकी मदद करनी चाहिए जो गरीबी और जंग में फंसे हुए हैं।”
– ट्रम्प ने अपने मैसेज में मैनचेस्टर बॉम्बिंग और मिस्र में क्रिश्चियन्स पर हमले का भी जिक्र किया।
– उन्होंने कहा, “इस साल छुट्टियों की शुरुआत यूनाइटेड किंगडम और मिस्र पर बर्बर आतंकी हमले से हुई। ऐसा करना रमजान के सिद्धांतों के खिलाफ है।”
– हाल ही में अपने सऊदी अरब के दौरे पर ट्रम्प ने आतंकवाद को क्रिटिसाइज तो किया, लेकिन रैडिकल इस्लामिक टेरर शब्द नहीं कहा था। प्रेसिडेंशियल कैम्पेन के दौरान ट्रम्प ने रैडिकल इस्लामिक टेररिज्म का काफी इस्तेमाल किया था।
सऊदी में क्या बोले थे ट्रम्प?
– ट्रम्प के मुताबिक, “50 मुस्लिम देशों के नेताओं के साथ मीटिंग कर सम्मानित महसूस कर रहा हूं।”
– “यहां मुस्लिमों के दो पवित्र स्थान हैं। हम यहां शांति, सुरक्षा और संपन्नता पर आपसी समझौते का संदेश देने के लिए जुटे हैं।”
– “मैं रियाद को साफ करना चाहता हूं कि अमेरिका हमेशा आतंकवाद और उसकी विचारधारा को खत्म करने के लिए तैयार रहेगा।”
– बता दें अपने पहले विदेशी दौरे के पहले पड़ाव पर ट्रम्प सऊदी अरब पहुंचे थे। 9 दिन के इस दौरे में सऊदी अरब, इजरायल, वेटिकन, इटली और बेल्जियम शामिल थे।
ट्रम्प ने सऊदी में किया था सोर्ड डांस
– ट्रम्प ने मुराबा पैलेस में सऊदी का ट्रेडिशनल सोर्ड डांस किया। इसमें किंग सलमान, व्हाइट हाउस के ऑफिशियल्स और सऊदी अमीर शामिल हुए।
– सोर्ड डांस को सऊदी में अर्दा कहा जाता है। इसे किसी धार्मिक या शादी के मौके पर किया जाता है।
– इससे पहले 2014 में ब्रिटेन के प्रिंस चार्ल्स और 2008 में यूएस प्रेसिडेंट जॉर्ज डब्ल्यू बुश ने सोर्ड डांस किया था।
– ट्रम्प ने सऊदी अरब के साथ 110 बिलियन डॉलर की डिफेंस डील भी की।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *