मोदी असम पहुंचे, हर साल की बाढ़ से निपटने के तरीकाें पर करेंगे चर्चा

गुवाहाटी. नरेंद्र मोदी बाढ़ प्रभावित इलाकों का जायजा लेने असम पहुंच गए हैं। राज्य के सीएम सर्बानंद सोनोवाल के मुताबिक, पीएम का यह दौरा इलाके में हर साल आने वाली बाढ़ का स्थायी हल तलाशने के लिए है। उन्होंने बताया कि मोदी इस मसले पर दो सेशन में बातचीत करेंगे और शाम तक दिल्ली रवाना हो जाएंगे। बता दें कि असम में बाढ़ से इस साल अब तक 80 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इससे पहले पिछले मंगलवार को मोदी ने गुजरात के बाढ़ प्रभावित इलाकों का दौरा किया था।
नॉर्थ-ईस्ट के बाकी राज्यों के हालात का भी होगा रिव्यू…
– न्यूज एजेंसी के मुताबिक, राज्य के कैबिनेट मिनिस्टर हेमंत बिस्व सरमा ने सोमवार को यहां बताया कि मोदी सबसे पहले सीएम सर्बानंद सोनोवाल, दूसरे मिनिस्टर्स और अफसरों से मिलेंगे। यह मीटिंग स्टेट एडमिनिस्ट्रेटिव स्टाफ कॉलेज कैम्पस में होगी, जिसमें बाढ़ के बाद के हालात का रिव्यू किया जाएगा।
– मोदी यहां अरुणाचल प्रदेश, नगालैंड और मणिपुर में चलाए जा रहे राहत कार्यों का भी रिव्यू करेंगे। इसमें संबंधित राज्यों के सीएम और अफसरों के मौजूद रहने की उम्मीद है।
2-2 लाख मुआवजे का एलान
– असम दौरे से पहले मोदी ने यहां बाढ़-बारिश की वजह से मारे गए लोगों के परिवार वालों को 2-2 लाख रुपए मुआवजा देने का एलान किया। गंभीर रूप से जख्मी लोगों को 50 हजार रुपए दिए जाएंगे। सोमवार को पीएमओ से की गई ट्वीट में यह जानकारी दी गई।
– इससे पहले मोदी ने राजस्थान और गुजरात की बाढ़ में मारे गए लोगों के परिवार वालों के लिए भी 2-2 लाख रुपए और जख्मी लोगों के लिए 50-50 हजार रुपए मुआवजे का एलान किया था।
– उधर, आमिर खान ने भी असम के बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत कार्य के लिए 25 लाख रुपए का दान किया है।
– सर्बानंद सोनोवाल ने इस पहले के लिए ट्वीट करके आमिर का शुक्रिया अदा किया।
– बता दें कि आमिर अपने परिवार के साथ कई बार असम यात्रा पर जा चुके हैं।
25 लाख आबादी बाढ़ से प्रभावित
– मिनिस्टर्स और अफसरों से मुलाकात के बाद मोदी बीजेपी और उसके सहयोगी दलों असम गण परिषद और बोडोलैंड पीपुल्स फ्रंट के विधायकों की बैठक को एड्रेस करेंगे।
– हेमंत विश्व शर्मा ने कहा कि मोदी के दौरे का फोकस बाढ़ और कटाव की परेशानी का स्थायी हल निकालना है। उन्होंने कहा, “परेशानियों के बारे में एक मेमोरेंडम राज्य सरकार की आेर से पीएम को दिया जाएगा।”
– असम में इस साल बाढ़ से 29 जिलों की 25 लाख आबादी प्रभावित हुई है और कम से कम 82 लोग मारे जा चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *