मोदी आज सिंहस्थ में: विचार महाकुंभ में लेंगे हिस्सा, क्षिप्रा में नहीं करेंगे स्नान

इंदौर. नरेन्द्र मोदी शनिवार को उज्जैन के पास निनोरा में सिंहस्थ के तहत चल रहे विचार महाकुंभ के समापन कार्यक्रम में शिरकत करेंगे। इंदौर के देवी अहिल्या एयरपोर्ट पर पहुंचने के बाद वे एयरफोर्स के हेलिकॉप्टर से निनोरा जाएंगे। मोदी संतों की मौजूदगी में स्पीच भी देंगे। कुछ ऐसा है मोदी का पूरा प्रोग्राम…
– मोदी सुबह 11.30 से दोपहर 12.30 बजे तक निनोरा में अंतर्राष्ट्रीय विचार कुंभ के समापन कार्यक्रम में भाग लेंगे और सिंहस्थ का सार्वभौम अमृत संदेश जारी करेंगे।
– वे दोपहर 12.35 से 12.50 बजे तक विचार कुंभ स्थल पर अतिथियों से मुलाकात करेंगे।
– दोपहर 1.05 बजे निनोरा (उज्जैन) से इंदौर के लिए रवाना होकर दोपहर 1.30 बजे इंदौर एयरपोर्ट आएंगे।
– इंदौर से दोपहर 1.35 बजे दिल्ली जाएंगे।
– उज्जैन में मोदी न तो महाकाल के दर्शन करने जाएंगे, न ही सिंहस्थ के मौके पर क्षिप्रा में डुबकी लगाएंगे।
श्रीलंका के प्रेसिडेंट भी साथ होंगे
– समापन कार्यक्रम की शुरुआत मध्यप्रदेश गान से होगी।
– सीएम शिवराज सिंह चौहान स्वागत भाषण देंगे।
– इसके बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेना स्पीच देंगे।
यह हैं सेरेमनी के गेस्ट
– समापन कार्यक्रम में भूटान के इन्फॉर्मेशन एंड ब्रॉडकास्टिंग मिनिस्टर डीएन डुन्गयाल, श्रीलंका के नेता अपोजिशन आर. सम्पनाथन, मलेशिया के उपमंत्री डॉ. लोगाबाला मोहन, नेपाल के काउंसिल ऑफ मिनिस्टर्स के पूर्व चेयरमैन खिलराज रेगमी शामिल होंगे।
– इनके अलावा बांग्लादेश के सांसद सदनचन्द्र मजूमदार, लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन, केन्द्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर, थावरचंद गहलोत, गोवा की राज्यपाल मृदुला सिन्हा, छत्तीसगढ़ के सीएम रमनसिंह, झारखंड के सीएम रघुवरदास और प्रदेश के मंत्री सुरेन्द्र पटवा मौजूद रहेंगे।
संतगणों की मौजूदगी में जारी होगा संदेश
– अंतर्राष्ट्रीय विचार कुंभ के समापन अवसर पर संतगणों की मौजूदगी में सिंहस्थ सार्वभौम संदेश जारी होगा।
– इस मौके पर जगतगुरू स्वामी वासुदेवानंद सरस्वती, जगतगुरू शंकराचार्य महामण्डलेश्वर स्वामी सत्यमित्रानंद गिरिजी, महामण्डलेश्वर स्वामी अवधेशानंद गिरिजी, स्वामी महामण्डलेश्वर स्वामी विशोकानंदजी, स्वामी गुरूशरणानंदजी, महंत नरेन्द्र गिरिजी, स्वामी कल्याणदासजी, स्वामी सुकदेवानंदजी, महंत ज्ञानदेवसिंहजी, श्रीमंत नारायण चिन्न जीयर, स्वामी परमानंदजी, स्वामी ज्ञानानंदजी, स्वामी अखलेश्वरानंदजी मौजूद रहेंगे।
– इनके अलावा स्वामी कौशलेन्द्रजी, स्वामी हरिचेतानंदजी, श्री महंत महेश्वरदासजी, स्वामी रामानुजाचार्य कृष्णाचार्यजी, दत्त शरणानंदजी, बालकदासजी, पायलट बाबा, उमाशंकर भारती, महंत हरिगिरिजी, महंत विद्यानंद सरस्वतीजी, महंत उदयगिरिजी, महंत रामकिशोरदासजी, महंत मोहनदासजी, महंत दुर्गादासजी, महंत धुनीदासजी, महंत गोपालसिंहजी भी शामिल रहेंगे।