मोदी ने कहा- खुशी है कि संसद चल रही है और इसका क्रेडिट सभी को जाता है

नई दिल्ली. पीएम नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक प्रोग्राम में संसद का जिक्र किया। स्पीच के दौरान उन्होंने कहा, ‘मुझे पार्लियामेंट भी जाना है। और खुशी है कि संसद चल रही है। इसका क्रेडिट सभी को है।’ मोदी ने यह भी कहा, ‘मुझे इधर-उधर जाने की आदत नहीं है। चुनाव होते हैं तो उस मोड में होता हूं। यहां हूं तो इस मोड में हूं।’
क्या हैं मोदी के बयान के मायने?
– मोदी दिल्ली में 13वीं एचटी लीडरशिप समिट के इनॉग्रेशन प्रोग्राम में ‘क्या भारत दुनिया का चमकीला सितारा बन सकता है?’ सब्जेक्ट पर बोल रहे थे।
– ‘संसद चलने की खुशी होने से’ उनके मायने संसद के मौजूदा विंटर सेशन से है। इस सेशन में मानसून सेशन के मुकाबले हंगामा कम हो रहा है।
– जीएसटी पर एनडीए और कांग्रेस के बीच राय बनती दिख रही है। इन्टॉलरेंस के मुद्दे पर डिबेट के दौरान हंगामा हुआ, लेकिन फिर भी चर्चा हुई।
– राज्यसभा में गुरुवार को कुछ देर हंगामा देखने को मिला जब अपोजिशन ने विदेश राज्य मंत्री जनरल वीके सिंह का विरोध किया।
– मोदी के ‘चुनाव मोड’ के जिक्र के मायने इस बात से हो सकते हैं कि अपोजिशन अकसर यह कहता रहा है कि मोदी हर स्पीच चुनावी रैली की तरह देते हैं।
मोदी ने और क्या कहा?
– मोदी ने कहा- इस सरकार की उपलब्धियां इतनी हैं कि मैं हफ्तेभर तक भाषण दे सकता हूं। विवेकानंद जी ने बरसों यहां काम किया। लेकिन जब तक शिकागो से नहीं बोले, किसी ने नहीं सुना।
– दुनिया को हमारे राज्यों की ताकत समझनी चाहिए। भारत को यह समझना होगा कि सभी राज्यों का विकास एक साथ होना चाहिए।
– भारत दुनिया में तेजी से बढ़ता हुआ देश है। हर स्टेट की डिफरेंट यूएसपी होती है और हमें उसी तरह से आगे काम करने की जरूरत है।
– अभी तक यह होता था कि दिल्ली तय करता था कि राज्य पैसा कहां खर्च करेंगे? लेकिन अब से राज्यों के सीएम तय करेंगे कि पैसा कहां खर्च होगा।
– आज देश में विचारों की कमी नहीं है। मेरी कोशिश है, उन विचारों को धरती पर लाना।
ये लोग भी शामिल होंगे
– इस लीडरशिप समिट में वित्त मंत्री अरुण जेटली, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और पीडीपी नेता महबूबा मुफ्ती शामिल हो रही हैं।
– मानव संसाधन विकास मंत्री स्मृति ईरानी और भारत में पूर्व अमेरिकी राजदूत राॅबर्ट ब्लैकविल भी स्पीच देंगे।
– साथ ही इंटरनेशनल रिलेशंस के एक्सपर्ट सोली ओजेल, अमेरिका की पूर्व विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन के सलाहकार रहे डेनियल कुत्र्ज फेलन, पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, एनसीपी नेता सुप्रिया सुले, बॉलीवुड एक्ट्रेस करीना और कंगना रनाउत, जस्टिस मुकुल मुद्गल और हॉलीवुड स्टार निकोल किडमैन की भी स्पीच होगी।