मोदी ने जापान की बुलेट ट्रेन पर किया सफर, हाईस्पीड टेक्नोलॉजी देखने फैक्ट्री भी जाएंगे

टोक्यो. जापान दौरे पर गए नरेंद्र मोदी ने जापान के पीएम शिंजो आबे के साथ बुलेट ट्रेन का सफर किया। शनिवार को वे हाईस्पीड टेक्नोलॉजी देखने कावासाकी के प्लांट पर भी जाएंगे। इससे पहले केंटेई स्थित पीएम ऑफिस में जापान और भारत ने सिविल न्यूक्लियर डील पर साइन कर दिया। जापान के पीएम शिंजो आबे से मोदी ने केंटेई स्थित पीएम ऑफिस में मुलाकात की। मोदी और आबे की मुलाकात के दौरान टेक्सटाइल, कल्चर, स्पोर्ट्स, आउटर स्पोर्ट के क्षेत्र में भी कई अहम डील्स पर साइन हुए। बुलेट ट्रेन टेक्नोलॉजी पर भी बनेगी बात…
– बुलेट ट्रेन टेक्नोलॉजी से मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेलवे ट्रैक को तैयार किया जाना है।
– मोदी कोबे में कावासाकी हैवी इंडस्ट्रीज भी जाएंगे। हाईस्पीड ट्रेन यहीं बनाई जाती है।
– जापान मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल के अलावा और छह रूट पर रेल कॉरिडोर प्रोजेक्ट की डील कर सकता है।
NSG में भी मिला जापान का साथ
– जापान ने भारत की NSG में मेंबरशिप के लिए पूरा समर्थन देने का ऐलान किया है।
– जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे ने ज्वाइंट प्रेस कॉन्फ्रेंस में इसका ऐलान किया।
– इससे पहले शुक्रवार सुबह मोदी ने टोक्यो में जापान के सम्राट अकिहितो से मुलाकात की।
– इसके बाद इंडो-जापान फोरम के बिजनेस लीडर्स और कई कंपनियों के सीईओ से मिले।
सिविल न्यूक्लियर डील पर साइन
– मोदी के इस दौरे पर जापान के साथ अटकी सिविल न्यूक्लियर डील पर भी साइन हो गए हैं।
– जापान ने पहली बार किसी ऐसे देश से न्यूक्लियर डील की है, जिसने NPT पर साइन नहीं किए हैं।
– एटमी डील पर कई सालों से बात चल रही थी, लेकिन 2011 में फुकुशिमा न्यूक्लियर पावर प्लान्ट में हुए हादसे के बाद अब बात बनी है।
– बता दें कि भारत के साथ अमेरिका, रूस, साउथ कोरिया, मंगोलिया, फ्रांस, नामीबिया, अर्जेंटीना, कनाडा, कजाकिस्तान और ऑस्ट्रेलिया पहले ही एटमी डील कर चुके हैं।
भारत में इन्वेस्टमेंट का बेहतर मौका
– बिजनेस फोरम में मोदी ने कहा कि- ”भारत में बिजनेस का माहौल बना है, जापान उसका फायदा उठा सकता है।”
– मोदी ने यह भी कहा कि- “मेड इन इंडिया और मेड बाय जापान का कॉम्बिनेशन बहुत अच्छे तरीके से काम कर रहा है।”
– मोदी बोले, “भारत अहम बदलावों के रास्ते पर है, हमने निर्णायक फैसले लिए हैं।”
– “नतीजे सामने दिखाई दे रहे हैं। इंटरनेशनल लेवल पर लड़खड़ाती इकोनॉमिक कंडीशन के बावजूद भारत से मजबूत विकास की खबर आ रही है।”
एम्फीबियन प्लेन की भी डील हो सकती है
– मोदी के इस दौरे में एम्फीबियन प्लेन US-2i की डील भी हो सकती है।
– भारत जापान से 10 हजार करोड़ के 12 एम्फीबियन प्लेन US-2i खरीद सकता है।
– ये ऐसे प्लेन हैं जो हवा के साथ-साथ पानी पर भी चल सकते हैं।
– दोनों देशों के बीच यह डील चीन के बढ़ते असर को रोकने के लिए है।
– मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, एयरक्राफ्ट की ये डील ज्यादा पैसों के चलते 2013 से अटकी हुई है। इसे देखते हुए जापान ने 720 करोड़ कम कर दिए हैं।