मोदी ने रात 10 बजे किया IAS को फोन, 2 महीने से बंद हाईवे 4 दिन में शुरू

नई दिल्ली. “त्रिपुरा को देश से जोड़ने वाला नेशनल हाईवे 8 दो महीने से बंद था। जरूरी सामान की सप्लाई भी ठप थी। सड़क का 15 किमी लंबा हिस्सा क्षतिग्रस्त था। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21 जुलाई की रात 10 बजे नॉर्थ त्रिपुरा के एक आईएएस अधिकारी को फोन किया और महज चार दिन में हाईवे फिर से खुल गया।’
सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है पोस्ट…
सोशल मीडिया पर वायरल एक पोस्ट को सही मानें तो मोदी की वर्किंग का एक अंदाज यह भी है।
– हालांकि, मूल रूप से “कोरा’ पर डाली पोस्ट की सरकार ने न पुष्टि की, न खंडन।
– पुष्पक चक्रवर्ती नाम के यूजर ने अपने पिता के हवाले से बताया कि पीएम ने 21 जुलाई की रात 10 बजे त्रिपुरा के एक आईएएस अधिकारी को फोन किया।
– उन्होंने कहा कि एनएच 8 मामले में केंद्र ने असम और त्रिपुरा सरकारों से बात कर ली है।
– हमें बस सड़क रिपेयरिंग में आपकी मदद चाहिए। जो भी जरूरत होगी, मुहैया करवा दी जाएंगी। इसके बाद अगले चार दिन काम चला।
लेट फोन करने के लिए मोदी ने मांगी माफी
– कोरा पर डाली गई पोस्ट के अनुसार, पीएम मोदी ने आईएएस से लेट फोन करने के लिए माफी भी मांगी।
– उन्होंने कहा कि अभी मेरी मीटिंग नितिन गड़करी के साथ खत्म हुई है। उन्हें हाईवे फिर शुरू करवाने में आपकी मदद लगेगी।
– पोस्ट में लिखा गया है कि इस फोन के बाद आईएएस रात भर सो नहीं सके।
– अगली सुबह जब वे ऑफिस पहुंचे तो असम, त्रिपुरा और केंद्र सरकार से उन्हें फोन आए और हाईवे की 15 किमी सड़क की मरम्मत के लिए फंड एलॉट हुए।
नितिन गड़करी ने भी कहा थैंक्यू…
– हाईवे खुलने के अगले दिन रोड़ एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्टर नितिन गड़करी ने उन्हें फोन कर थैंक्यू कहा।
– उन्होंने आगे कहा कि नेशनल हाईवे नंबर 44 को जल्द से जल्द रिपेयर किया जाएगा और उन्हें दिल्ली आने पर पीएमओ आने का भी न्योता दिया।
क्या थी उस वक्त त्रिपुरा की स्थिति…
– बता दें कि जुलाई में भारी बारिश के कारण असम-त्रिपुरा नेशनल हाइवे डैमेज हो गया था। यहां ट्रक नहीं पहुंच पा रहे थे।
– इस कारण त्रिपुरा में पेट्रोल की कीमत 300 रुपए प्रति लीटर और डीजल की कीमत 150 रुपए तक पहुंच गई थी।
– मालूम हो कि असम-त्रिपुरा नेशनल हाइवे त्रिपुरा के लिए लाइफलाइन माना जाता है। उस वक्त असम और त्रिपुरा की सरकार ने केंद्र से मदद भी मांगी थी।