मोदी बोले- भारत में फाइलों को 20 धाम की यात्रा के बाद भी मोक्ष नहीं मिलता

नई दिल्ली.लालफीताशाही और ब्यूरोक्रेसी के ढीले रवैये पर नरेंद्र मोदी ने कहा है कि हिंदू मिथोलॉजी के मुताबिक तो चार धाम की यात्रा से मुक्ति मिल जाती है, लेकिन भारत में फाइलों को 20 धाम की यात्रा करने के बाद भी मोक्ष नहीं मिल पाता। मोदी ने ये बात सोमवार को कैबिनेट में फेरबदल से पहले कुछ एडिटर्स से मुलाकात के दौरान कही।
– 25 महीने सरकार चला चुके मोदी ने एक सवाल के जवाब में कहा कि पहले तो एक कैबिनेट नोट बनाने में तीन महीने या उससे ज्यादा लग जाते थे। लेकिन अब हालात बदले हैं और ये काम 15 दिन में पूरा हो जाता है। चार धाम यात्रा का जिक्र मोदी ने इसी दौरान किया।
– कैबिनेट फेरबदल को लेकर उन्होंने कहा कि इसे एक्सपैन्शन या विस्तार कहा जाना चाहिए। ये चेंज नहीं है। दो साल बाद फेरबदल का होना बहुत जनरल बात है।
– पीएम ने कहा कि सरकार का इस साल का बजट उसका फोकस बताता है। एग्रीकल्चर, वुमन एम्पावरमेंट और कमजोर तबकों के विकास पर जोर दिया गया है।

यूपी चुनाव पर क्या कहा?

– मोदी से जब ये पूछा गया कि क्या कैबिनेट में फेरबदल यूपी में अगले साल होने वाले चुनाव को लेकर है, तो उन्होंने कहा- “केंद्र में सरकार बनने से पहले ही वहां से 72 बीजेपी सांसद बन कर आए।”
– मोदी के मुताबिक, “हमारी सबसे बड़ी कामयाबी लोगों का वो भरोसा है, जो उन्होंने इस सरकार में दिखाया है। उन्होंने ये भी कहा कि बड़ी कामयाबियों के लिए फाउंडेशन डाली जा चुकी है और अब हम रफ्तार पकड़ने के लिए तैयार हैं। इकोनॉमिक क्राइसिस से निकलकर अब भारत को बदलने की बारी है।”
– मोदी ने कहा कि पिछले लोकसभा चुनाव के दौरान ही मीडिया का एक सेक्शन ये मान रहा था कि हम इलेक्शन नहीं जीत सकते। अब जबकि ऐसा हो चुका है तो भी हम उनको अपना प्वाइंट ऑफ व्यू नहीं समझा पाए हैं।
– पीएम ने उम्मीद जताई कि पार्लियामेंट के इस मानसून सेशन में जीएसटी बिल पास करा लिया जाएगा।
– नौकरियों में कमी के सवाल पर उन्होंने कहा कि इसके लिए कुछ कदम उठाए गए हैं। इसके नतीजे जल्द दिखेंगे।
– कांग्रेस का नाम लिए बिना मोदी ने कहा कि देश की जनता जानती है कि सिर्फ एक ही पार्टी है, जो संसद नहीं चलने देती।
आतंकवाद पर क्या कहा?
– ढाका में हालिया आतंकी हमले पर मोदी ने कहा कि दुनिया को अब आतंकवाद के खिलाफ एकजुट हो जाना चाहिए। यूएन टेररिज्म की डेफिनेशन तय करने में देरी कर रहा है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *