मोदी सरकार पर निशाना साधने के लिए दिग्विजय ने शेयर की ‘झूठी तस्‍वीर’, ट्रोलर्स ने ली क्‍लास

बिना जांचें-परखे एक निर्माणाधीन पुल की तस्वीर डालकर सरकार की आलोचना करना मध्‍य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह को महंगा पड़ गया। दिग्विजय ने रविवार को ट्विटर पर एक पुल के पोल की फोटो पोस्ट करते हुए उसे भोपाल के सुभाष नगर का निर्माणाधीन ओवरब्रिज बताया और कहा, ‘सुभाष नगर रेलवे फाटक भोपाल पर बने रेलवे ओवरब्रिज के एक पोल में दरार इसकी गुणवत्ता पर सवाल उठाती है। एक भाजपा नेता के मार्गदर्शन में निर्माण हो रहा है, फिर यह सब क्यों और कैसे? वाराणसी की दुर्घटना यहां भी न हो जाए।’

एक भाजपा नेता से दिग्विजय का आशय सहकारिता राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) विश्वास सांरग से था। ट्वीट करते ही वे ट्रोल हो गए। दरअसल, दिग्विजय ने जिस फोटो को भोपाल के सुभाष नगर का ओवरब्रिज बताया था, वह रावलपिंडी-इस्लामाबाद मेट्रो का पुल है। शिवराज ने ली चुटकी दिग्विजय के इस ट्वीट पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने चुटकी लेते हुए कहा, ‘पता नहीं इनको ऐसा क्यों लगा कि मध्‍य प्रदेश में आज भी उनके जमाने जैसी धांधलियां होती होंगी। ये वह हैं जो जमीन पर तो छोडि़ए, अपने ट्विटर हैंडल पर भी पुल ठीक से नहीं बना पाए।’ पश्चिम मध्य रेल के मंडल कार्यालय ने इस ट्वीट का खंडन जारी किया है।

दिग्विजय ने मांगी माफी
अपने गलत ट्वीट पर दिग्विजय सिंह ने माफी मांगी है। एक ट्वीट पर कमेंट करते हुए उन्होंने कहा, ‘गलत पोस्ट के लिए मैं माफी चाहता हूं। मेरे एक दोस्त ने इसे भेजा था और मैंने बिना जांचे ट्वीट कर दिया।