यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ बोले, 2019 में स्वार्थ आधारित महागठबंधन को जनता करेगी बेनकाब

उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ का कहना है कि 2019 के आम चुनाव में सिर्फ एक लहर चलने वाली है जिसका नाम मोदी लहर है। विपक्षी दल एक ऐसे गठबंधन को बनाने की कोशिश कर रहे हैं जिसका आधार नहीं है। विपक्षी दलों का गठबंधन मौकापरस्ती का मेल है, जिसमें सबके निहित स्वार्थ हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए साक्षात्कार में योगी आदित्यनाथ ने कहा कि एसपी-बीएसपी का संभावित गठजोड़ के हश्र को प्रदेश और देश की जनता करीब दो दशक पहले देख चुकी है। अखिलेश यादव और मायावती का गठबंधन स्थाई और टिकाऊ नहीं है। समय के थपेड़े उस पर हमला करेंगे और वो गठबंधन खुद ब खुद टूट जाएगा। इससे भी बड़ा सवाल ये है कि क्या मायावती कभी अखिलेश यादव के नेतृत्व में काम कर सकेंगी। इसके साथ सवाल ये भी है कि क्या अखिलेश यादव, राहुल गांधी के नेतृत्व को स्वीकार कर सकेंगे।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि महागठबंधन सिर्फ सपना है जिसका खाका कागजों पर खींचने की कोशिश हो रही है। लेकिन उसका साकार रूप लेना सभव नहीं है। बीजेपी पूरे देश में न केवल बेहतर प्रदर्शन करेगी बल्कि यूपी में भी 75 से ज्यादा सीटें हासिल करेगी।
अविश्वास प्रस्ताव के दौरान कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के व्यवहार पर उन्होंने कहा कि वो बच्चों वाली हरकत थी जो संसद की गरिमा के अनुकूल नहीं थी। आप इस तरह का व्यवहार नहीं कर सकते हैं। राहुल गांधी ने अपने भाषण के जरिए जिन मुद्दों पर सरकार को घेरने की कोशिश करते नजर आए। दरअसल उन सभी दिक्कतों की जनक तो कांग्रेस पार्टी ही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *