यूपी में मैर‍िज रज‍िस्ट्रेशन सबके लिए जरूरी होगा

लखनऊ.यूपी में सबके लिए मैरिज रजिस्ट्रेशन जरूरी हो सकता है। इसके लिए योगी सरकार का वुमन वेलफेयर डिपार्टमेंट मैनुअल (नियमावली) तैयार कर रहा है। जल्द ही इसे कैबिनेट में पेश किया जाएगा। इसके मुताबिक, रजिस्ट्रेशन नहीं कराने वालों से जुर्माना वसूला जाएगा। उन्हें सरकारी सर्विसेस का फायदा भी नहीं मिलेगा। बता दें, सुप्रीम कोर्ट ने मैरिज रजिस्ट्रेशन जरूरी करने के ऑर्डर दिए थे। राजस्थान, हिमाचल, केरल और बिहार इसे लागू कर चुके हैं।
बाल विवाह पर लगाम लग सकेगी​…
– इससे बाल विवाह पर लगाम लग सकेगी। पति या पत्नी के जिंदा रहते दूसरी शादी पर रोक लगेगी। पति की मौत के बाद पत्नी को उसका हक और क्लेम आसानी से मिल सकेगा।
– साथ ही कोई पति, पत्नी का शोषण नहीं कर सकेगा। शादी दोनों पक्षों की रजामंदी से ही होगी।
नया नियम कब से लागू होगा?
– मैनुअल जारी होने के बाद नए शादीशुदा जोड़ों को मैरिज रजिस्ट्रेशन कराना जरूरी होगा। हालांकि, जो पहले से शादीशुदा हैं, उन्हें रजिस्ट्रेशन नहीं कराना पड़ेगा।
सपा सरकार में मुस्ल‍िमों ने किया था विरोध
– अखिलेश सरकार में मैरिज रजिस्ट्रेशन लागू करने की प्रोसेस में तेजी आई थी। लेकिन मुस्लिमों के विरोध के चलते इसे ठंडे बस्ते में डाल दिया गया।
– पूर्व मंत्री अहमद हसन की अध्यक्षता में बनी कमेटी ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराने पर लोगों को सजा न देने का फैसला लिया। मुस्लिमों को इसमें छूट देने की तैयारी थी, लेकिन तब मैनुअल जारी नहीं हो सका।